12 वीं पास बेरोजगार युवक-युवतियां बिहार सरकार की इस योजना के तहत लें बेरोजगारी भत्ता, जानें पूरी जानकारी

Unemployment

न्यूज डेस्क : बिहार के 12वीं पास कर चुके बेरोजगार युवक-युवतियों के लिए बेहद महत्वपूर्ण जानकारी है। राज्य के मुख्यमंत्री द्वारा आरंभ की गई ‘मुख्यमंत्री निश्चय स्वयं सहायता भत्ता योजना’ के तहत अभियर्थियों को रोजगार ढूंढने के दौरान 1000 रुपये हर महीने के हिसाब से 2 वर्ष तक दिए जाएंगे, जिससे युवक- युवती को आर्थिक रूप से काफी सहायता मिलेगी। बता दें कि इस योजना का मकसद केवल बेरोजगारी को खत्म करना है, इस योजना का लाभ वह युवक युवती ले सकेंगे, जिनका उम्र 21 से 35 आयु वर्ग में आता है। और उनका 12वीं पास होना आवश्यक है।

किसको और कैसे मिलेगा इस योजना का लाभ

  • जो 12वीं पास करने के बाद भी बेरोजगार है, उन्हें प्रत्येक महीने 1000 के हिसाब से दो वर्ष तक तक इस योजना का लाभ मिलेगी।
  • यह सहायता राशि आवेदकों को सीधे उनके बैंक खाते में डाल दिये जाएंगे ।
  • नौकरी प्राप्त होने तक इस योजना का लाभ आवेदक को मिलती रहेगी।
  • इस योजना के तहत इसका लाभ 21-35 आयुवर्ग के युवक-युवती ही उठा पाएंगे।

आवेदन देने के लिए आवश्यक कागज़ात (Important Documents )

  1. आधार कार्ड
  2. निवास प्रमाणपत्र (Domicile Certificate)
  3. 10वीं और 12वीं पास की हुई प्रमाणपत्र
  4. आवेदक का फ़ोन नंबर
  5. पासपोर्ट साइज फोटोज

ऑनलाइन आवेदन कैसे करें

  1. आवेदक को इस योजना के आधिकारिक वेबसाईट https://www.7nishchay-yuvaupmission.bihar.gov.in/ पर जा कर आवेदन से जुड़ी जानकारी भरना होगा।
  2. आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के उपरांत होम पेज पर एक ऑप्शन नज़र आएगी, New Applicant Registration इस ऑप्शन को दबाने के बाद अगली प्रक्रिया के लिए पेज खुल जायेगा।
  3. आवेदन के लिए पूछे गए सभी जानकारी को देनी होगी। फिर आपके फ़ोन में ओटीपी आएगा, जिससे वेरिफाई होगा।
  4. उसके बाद लॉगइन हो जाएगी, जिसके बाद वहां दिए गए यूजनाओं के सूची को देख आवेदन कर दें।

कब की गई थी इस योजना की शुरुआत मालूम हो कि इस योजना की शुरुआत वर्ष 2017 में हुई थी। इस योजना के सबसे अच्छी बात यह की यदि निर्धारित लक्ष्य से ज्यादा भी आवेदन आते है, तो भी आवेदक को निराश नहीं किया जाता है। उनका आवेदन ले लिया जाता है। योजना से संबंधित और भी अधिक जानकारी लेनी हो तो इसके आधिकारिक वेबसाइट पर विज़िट कर सकतें हैं।

You may have missed

You cannot copy content of this page