झारखंड के इस जिले में 400 करोड़ रुपये की लागत से बनेगा दुनिया का सबसे ऊंचा बौद्ध स्तूप, विश्वस्तरीय धार्मिक पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा..

Budha

न्यूज डेस्क : देश प्रगति की ओर आगे बढ़ रहा है। लगातार अलग-अलग क्षेत्रों में सरकार के द्वारा पर्यटक क्षेत्रों को बढ़ावा दिया जा रहा है। ताकि, भारत भी विश्व के नक्शे पर टूरिज्म के नाम से विख्यात हो जाए। बता दे की गुजरात के नर्मदा नदी के तट पर सरदार वल्लभभाई पटेल की स्टैच्यू बनने के बाद अब झारखंड में भी बौद्ध भगवान का एक बड़ा स्तूप बनने जा रहा है। अब वह दिन दूर नहीं जब झारखंड में भी विदेशी पर्यटक बुध का प्रतिमा देखने के लिए आ सकेंगे।

बताते चलें कि झारखंड के इटखोरी में दुनिया का सबसे ऊंचा बौद्ध स्तूप बनाने की योजना बनायी है। पर्यटन विभाग ने स्तूप और प्रेयर व्हील निर्माण की डिजाइन तैयार का काम परामर्शी कंपनी आइडेक को सौंपा है। इटखोरी में दुनिया का सबसे ऊंचा बौद्ध स्तूप बनाने की योजना बनायी है। पर्यटन विभाग ने स्तूप और प्रेयर व्हील निर्माण की डिजाइन तैयार का काम परामर्शी कंपनी आइडेक को सौंपा है। इस योजना पर लगभग 400 करोड़ रुपये खर्च किये जायेंगे। इसमें से करीब 200 करोड़ रुपये बौद्ध स्तुप और प्रेयर व्हील के निर्माण पर खर्च होने का अनुमान है। बता दे की तीन धर्मो की संगम स्थली के रूप में विख्यात इटखोरी को बौद्ध सर्किट से जोड़ा जायेगा।

टूरिज्म सर्किट में बोधगया कौलेश्वरी-इटखोरी शामिल होंगे। इसके लिए विस्तृत मास्टर प्लान पर आइडेक ने काम शुरू कर दिया है। पहले फेज का डीपीआर भी तैयार हो गया है।

You may have missed

You cannot copy content of this page