“इतिहास की किताबों में दर्ज होगा उनका नाम अगर…’ वीरेंद्र सहवाग ने इस युवा खिलाड़ी पर दिया बड़ा बयान

IPL 2022

एक तरफ जहां लिमिटेड ओवर क्रिकेट को बढ़ावा मिल रहा है,टेस्ट क्रिकेट की पहचान धुंधली सी होती जा रही है। एक खिलाड़ी को सही रूप से क्रिकेटर तभी कहते है जब उसके पास टेस्ट क्रिकेट का अनुभव भी हो।

भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ी व धाकड़ ओपनर वीरेंद्र सहवाग का मानना है कि टेस्ट क्रिकेट एक खिलाड़ी के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। सहवाग ने टेस्ट क्रिकेट का महत्व बताते हुए कहा कि अगर रिशभ पंत सिर्फ व्हाइट बॉल क्रिकेट खेलेंगे तो उन्हें कोई नही याद रखेगा। सहवाग ने कहा लिमिटेड ओवर क्रिकेट खेलने वाले 99% खिलाड़ी टेस्ट क्रिकेट खेलना चाहते है।

टेस्ट क्रिकेट में सहवाग का रिकॉर्ड शानदार रहा है। भारत के लिए 100 से अधिक टेस्ट खेलने वाले खिलाड़ियों में सहवाग का नाम शामिल है। एक दशक से अधिक के करियर में सहवाग ने टेस्ट क्रिकेट में 49.34 की औसत व 82.23 की स्ट्राइक रेट से 8273 रन बनाएं हैं। वहीं एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मुकाबलों में 35.05 की औसत व 104.33 की स्ट्राइक रेट से 8273 रन बनाए है।

रिशभ पंत के बारे में बात करते हुए वीरेंद्र सहवाग ने कहा कि अगर वह 100 या उससे अधिक टेस्ट मुकाबले खेलते है तो इतिहास के पन्नो पर उनका नाम दर्ज हो जायेगा। “अगर वह(रिशभ पंत) 100 से अधिक टेस्ट खेलते है, तो उनका नाम इतिहास की किताबों में हमेशा के लिए दर्ज हो जाएगा। यह उपलब्धि सिर्फ 11 भारतीय क्रिकेटरों ने हासिल की है और उन 11 नामों को हर कोई याद कर सकता है। टेस्ट खेलने पर इतना जोर क्यों देते हैं विराट कोहली? वह जानते है कि अगर वह 100-150 या 200 टेस्ट भी खेलते है, तो वह रिकॉर्ड बुक में अमर हो जाएंगे,” सहवाग ने स्पोर्ट्स 18 शो ‘होम ऑफ हीरोज’ पर कहा।

रिशभ अभी 24 वर्ष के है,भारत के लिए चार साल से टेस्ट क्रिकेट खेल रहे है।रिशभ पंत ने अब तक कुल 30 टेस्ट मुकाबले खेले है जिसमे 40.85 की औसत से 1920 रन बनाएं है। इसमें 4 शतक और 9 अर्धशतक शामिल है