December 7, 2022

कौन हैं 126 साल के स्वामी शिवानंद, जिनके सम्मान में PM मोदी झुक गए, राष्ट्रपति से मिला पद्मश्री

Swami Shivanand Padmshri

योग गुरु स्वामी शिवानंद को सोमवार को राष्ट्रपति भवन मे पद्मश्री से सम्मानित किया । राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने सोमवार को राष्ट्रपति भवन में एक विशेष सम्मान समारोह में जनरल बिपिन रावत (मरणोपरांत) सहित कई प्रतिष्ठित हस्तियों को पद्म पुरस्कारों से सम्मानित किया। इन हस्तियों में 125 वर्षीय स्वामी शिवानंद हैं, जिन्हें पद्म श्री पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। स्वामी शिवानंद को यह सम्मान योग के क्षेत्र में उनके उत्कृष्ट योगदान के लिए दिया गया है।

125 वर्षीय योग प्रशिक्षक स्वामी शिवानंद सहित कई “अज्ञात नायकों” को पद्म पुरस्कारों से सम्मानित किया गया। जब स्वामी शिवानंद एक सामान्य कुर्ता-धोती में पुरस्कार लेने के लिए नंगे पांव गए, तो लोगों ने तालियां बजाईं। समारोह में मौजूद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का अभिवादन करने के लिए स्वामी शिवानंद घुटनों के बल बैठ गए। इस पर पीएम मोदी ने तुरंत स्वामी शिवानंद के सामने झुककर जमीन को छुआ.

कौन हैं 126 साल के स्वामी शिवानंद, जिनके सम्मान में PM मोदी झुक गए, राष्ट्रपति से मिला पद्मश्री 1

125 वर्षीय स्वामी शिवानंद काशी के रहने वाले हैं। इस सम्मान को लेकर दुर्गाकुंड स्थित स्वामी शिवानंद आश्रम में खासा उत्साह है। स्वामी शिवानंद का कहना है कि इससे yog और भारतीय जीवन शैली में सभी का विश्वास बढ़ेगा। मेरी जीवनशैली और योग से प्रेरणा लेकर लोग अपने जीवन को स्वस्थ बनाएंगे। स्वामी शिवानंद का मानना ​​है कि योग और प्राणायाम को अपनाकर लंबा और स्वस्थ जीवन पाया जा सकता है। दैनिक जागरण ने बताया कि पहले लोग इन जीवनशैली को अपनाकर 100 साल से अधिक जीते थे।

स्वामी शिवानंद का जन्म 08 अगस्त 1896 को सिलेट जिले के हरिपुर गाँव में हुआ था जो वर्तमान में बांग्लादेश में है। स्वामी कहते हैं कि योग, प्राणायाम और घरेलू औषधियों का प्रयोग स्वस्थ रहने की कुंजी है। वह कथित तौर पर अपनी नियमित दिनचर्या को लेकर बहुत सख्त हैं। वह रोज सुबह तीन बजे उठ जाते हैं। स्नान करने और दैनिक गतिविधियों को करने के बाद, वह भगवान की भक्ति सेवा में लीन हो जाते हैं। उन्हें उम्र से संबंधित कोई बीमारी होने की सूचना नहीं है।

ये भी पढ़ें   भारत में खुला Gold ATM - कार्ड से खरीदिए सोने के सिक्के..