जब माधुरी दीक्षित ने गुलाब जामुन खाने से रोका था अटल बिहारी वाजपेयी को – जानें पूरा किस्सा

Atal and madhuri

डेस्क : अटल बिहारी वाजपेई भारत के तीन बार प्रधानमंत्री रह चुके हैं। अटल बिहारी वाजपेई का जन्म 25 दिसंबर 1924 को ग्वालियर में हुआ था, बता दें कि उन्होंने अपनी अंतिम सांसे 16 अगस्त 2018 को दिल्ली के एम्स में ली थी। विरोधी नेता भी अटल जी को पसंद करते थे । जब वह बोलते थे तो उनके विरोधी उनको चुपचाप सुनते थे। वर्ष 2015 में उनको सर्वोच्च नागरिक सम्मान दिया जा चुका है। वह खाने पीने को लेकर काफी खुले विचारों वाले आदमी थे उनको बचपन से खाना पीना पसंद था। आज हम आपको उनके खाने पीने से जुड़ी एक घटना के बारे में बताने वाले हैं। यह घटना काफी मजेदार है।

जब वह भारत के प्रधान मंत्री थे तो उनके कार्यालय में एक आधिकारिक भोज का आयोजन किया गया था। बता दें की उनको मीठा खाने की मनाही थी लेकिन उनको मीठा खाना खूब पसंद था, जिसके चलते वह भोजनालय में गुलाब जामुन की तरफ बढ़ने लगे। जब उनके सहकर्मियों ने देखा की वह गुलाब जामुन की तरफ बढ़ रहे हैं तो उनके सह कर्मियों ने एक योजना बनाई।उनके सह-कर्मियों ने वहां पर मौजूद माधुरी दीक्षित को उनके सामने लाकर खड़ा कर दिया। फिर क्या था उस वक्त भारत में बॉलीवुड सिनेमा की हेरोइनों के चर्चे खूब हुआ करते थे, जिसके चलते अटल बिहारी वाजपेयी माधुरी दीक्षित से बात करने में व्यस्त हो गए। वह इतने लम्बे समय तक फिल्मों पर चर्चा करने लग गए की उनके साथ जो लोग थे।

उन्होंने पीछे से जाकर गुलाब जामुन को हटा दिया गया।अटल बिहारी वाजपेयी एक ऐसे प्रधान मंत्री थे जिन्होंने नेहरू से भी ज्यादा समय तक प्रधान मंत्री पद को संभाला था। उन्होंने पद पर बने हुए कई ऐसे कार्य करे थे जो आज भी अपने आप में काबिले तारीफ हैं। वह पहले ऐसे प्रधान मंत्री थे जिन्होंने 1996 में मात्र 13 दिन के लिए सरकार संभाली थी। जब सन 1998 आया तो उन्होंने 13 महीने के लिए सरकार को संभाला, इस कार्यकाल में उन्होंने विशाल परमाणु परिक्षण भी किया था जिसकी चर्चा देश विदेश में हुई थी।

You cannot copy content of this page