कानपुर में एसटीएफ के साथ एनकाउंटर में मारा गया विकास दुबे, डॉक्‍टरों ने की पुष्टि

डेस्क : कानपुर कांड का मुख्य आरोपी विकास दुबे नाटकीय मुठभेड़ में ढेर कर दिया गया. विकास दुबे को उज्जैन से ला रही एसटीएफ की गाड़ी कानपुर के पास हाईवे पर पलट गई. इस हादसे में पुलिस और विकास दुबे घायल हो गया. पुलिस इसे लेकर अस्पताल जा रही थी तभी इसने भागने की कोशिश की. इसी दौरान विकास ने पुलिस के हथियार छीनने की कोशिश की. पुलिस ने विकास को मुठभेड़ में ढेर कर दिया.

इसके बाद पुलिस और विकास दुबे के बीच मुठभेड़ शुरू हो गई। गाड़ी पलटने के बाद मोस्टवांटेड विकास दुबे ने पिस्टल छीनकर गोली चलाई। एनकाउंटर में गंभीर रूप से घायल विकास को पुलिस अस्पताल लेकर गई है। एसएसपी और अस्‍पताल के डॉक्‍टरों ने विकास दुबे के मारे जाने की पुष्टि की है.

कानपुर के बिकरु गांव में दो जुलाई की रात को आठ पुलिसकर्मियों की हत्या कर देशभर में सुर्खियों में आया उत्तर प्रदेश का मोस्ट वांटेड गैंगस्टर विकास दुबे गुरुवार सुबह उज्जैन के महाकाल मंदिर परिसर में मिला। छह दिन की तलाश के बाद मध्य प्रदेश पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। हालांकि, जिस कुख्यात अपराधी को लेकर कई राज्यों की पुलिस अलर्ट थी, उसकी गिरफ्तारी उतनी ही नाटकीय ढंग से हुई।

कैसे हुआ हादसा हादसे को लेकर यूपी एसटीएफ के अफसर अभी कुछ बोलने से बच रहे हैं, लेकिन माना जा रहा है कि तेज बारिश और गाड़ी की रफ्तार तेज होने की वजह से गाड़ी पलट गई है. मीडिया की नजर से विकास दुबे को बचाने के लिए गाड़ी की रफ्तार काफी तेज थी. फिलहाल क्राइम स्पॉट पर किसी को जाने की इजाजत नहीं दी जा रही है.