Vande Bharat Express ने बनाया नया रिकॉर्ड – खुद रेल मंत्री ने शेयर की ये वीडियो..

Vande Bharat train

Indian Railway : भारतीय रेलवे में क्रांति लाने वाली ट्रेन वंदे भारत एक्सप्रेस का परीक्षण सफलता पूर्वक किया गया। परीक्षण के दौरान इसकी स्पीड 180 किमी/घंटे दर्ज की गई। जिसके बाद खुद, केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने ट्विटर पर लिखा, “वंदे भारत -2 स्पीड ट्रायल कोटा-नागदा सेक्शन के बीच 120/130/150 और 180 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से शुरू हुआ।”

वैसे तो सरकार इसे जल्द पटरी पर उतारने की पूरी तैयारी कर रही है। तभी इसकी प्रारंभिक जांच के दौरान वाशिंग पिट में धुलाई व सफाई की गई। साथ ही इसके सभी उपकरणों और पैनलों की भी जांच की गई। वंदे भारत का स्पीड ट्रायल कोटा-नागदा रेलवे सेक्शन पर अलग अलग स्पीड के हिसाब से हुआ।

आरडीएसओ (अनुसंधान, डिजाइन और मानक संगठन) की टीम ने ऑल न्यू डिजाइन वाले वंदे भारत की ट्रेन के साथ 180 किमी प्रति घंटे की अधिकतम परीक्षण गति के साथ ट्रेन सेट के 16 कोचों के प्रोटोटाइप रेक का विस्तृत दोलन की टेस्टिंग सफलता पूर्वक की।

कोटा मंडल में विभिन्न चरणों के परीक्षण किए गए। प्रथम चरण का ट्रायल कोटा व घाट का बरना, दूसरा घाट का बरना व कोटा, तीसरा ट्रायल कुर्लासी व रामगंज मंडी के बीच डाउन लाइन पर, चौथा व पांचवां ट्रायल कुर्लासी व रामगंज मंडी के बीच डाउन लाइन पर तथा छठा ट्रायल कुर्लासी और रामगंज मंडी और लाबान के बीच डाउन लाइन डाउन लाइन पर की गई।

प्रशिक्षक के दौरान कई जगहों पर गति 180 किमी प्रति घंटे की स्पीड से इस ट्रेन ने सफर किया। इस ट्रेन का निर्माण पूरी तरह से भारत में किया गया है। मालूम हो वंदे भारत एक सेमी हाई स्पीड ट्रेन है। वंदे भारत ट्रेन एक सेल्फ प्रोपेल्ड इंजन वाली ट्रेन है, यानी इसमें अलग इंजन नहीं है। इसमें स्वचालित दरवाजे और वातानुकूलित चेयर कार कोच और एक घूमने वाली कुर्सी है जो 180 डिग्री घूमती है।

ये भी पढ़ें   Indian Railway : आखिर Bullet Train से भी तेज चलने वाली Vande Bharat में कैसा है इंजन?