CMIE : अगस्त माह में बेरोजगारी संख्या में हुई बृद्धि, इस माह में 15 लाख लोग हुए बेरोजगार, जाने आंकड़ा

Unemployment

डेस्क : पिछले साल से ही देश में सभी प्रकार के कारोबार की गति धीमी हो गई है। जिस वजह से काफी लोगों को नौकरी से हाथ तक धोना पड़ा है। वहीं नई नौकरी तो मिलना और भी मुश्किल है। इसी कड़ी में आंकड़े की माने तो बोते इस अगस्त माह में औपचारिक और अनौपचारिक दोनों सेक्टरों से लगभग 15 लाख से ज्यादा लोग बेरोजगार हुए हैं। सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी (CMIE) की एक रिपोर्ट के अनुसार जुलाई में कार्य मे लगे लोगों की संख्या 399.38 मिलियन से नीचे घटकर अगस्त महीने में 397.78 मिलियन तक पहुंची। मालूम हो कि अगस्त माह में सिर्फ ग्रामीण इलाके के करीब 13 लाख लोगों की रोजगार चली गई।

सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी के अनुसार पूरे देश के बेरोजगारी दर 6.95 फीसद से बढ़कर जुलाई माह में 8.32 प्रतिशत पर चला गया। आंकड़ों पर ध्यान दें तो जुलाई में 8.3 प्रतिशत, वहीं जून के महीने में 10.07 प्रतिशत, मई के महीने में 14.73 प्रतिशत और अप्रैल में 9.78 प्रतिशत थी। मालूम हो कि इस वर्ष मार्च माह में देश में कोरोना की दूसरी लहर से कुछ ही पहले, शहरी बेरोजगारी दर 7.27 प्रतिशत थी। आंकड़ो को ठीक से देखते हैं तो अगस्त के महीने में रोजगार दर में गिरावट हुई वहीं इसी माह में कर्मचारियों की भागीदारी दर में थोड़ी बढ़त भी देखने को मिली। सीएमआईई का यह रिपोर्ट बताता है कि काफी तादाद में नागरिक नौकरी करने तैयार हैं। आँकड़ो से मालूम पड़ता है कि जुलाई में जहां करीब 30 मिलियन लोग नौकरी ढूंढ रहे थे वहीं अगस्त के महीने में 36 मिलियन लोग सक्रिय तौर पर काम की तलाश नजर आए। रिपोर्ट की माने तो कुल श्रम बल का रूप भी काफी बढ़ा है।

साथ ही कोरोना की इस दूसरी लहर की वजह से विभिन्न प्रकार के कई फर्म में ताले लग गए। ऐसे में कंपनियों के ठप होने से रोजगार का साधन काम हुआ, और लोगों को रोजगार मिलने में कठिनाई होने लगी।

You may have missed

You cannot copy content of this page