भारत के गेहूं निर्यात बैन पर अमेरिका में मचा तहलका, बोला – मर जाएंगे हम लोग जल्दी कुछ कीजिए..

modi export ban wheat

डेस्क : भारत विश्व का दूसरा सबसे अधिक गेहूं उत्पाद करने वाला देश है। ऐसे में भारत कई बड़े-बड़े देश को गेहूं निर्यात करता है। वहीं, भारत ने इन दिनों गेहूं के निर्यात पर रोक लगा दी है। इससे दुनिया के तमाम देशों में गेहूं की कीमतों में तेजी देखने को मिली। भारत के इस निर्णय से अमेरिका भी परेशान दिख रहा है। हालांकि अमेरिका को इस बातमी उम्मीद है कि भारत अपने इस फैसले पर पुर्नविचार करेगा। बतादें कि यूक्रेन-रूस युद्ध के चलते दुनिया भोजन संकट की दिशा में बढ़ रहा है। इस युद्ध के चलते यूक्रेन से गेहूं के निर्यात नहीं हो पा रहा है।

क्यों भारत ने लगाया गेहूं के निर्यात पर प्रतिबंध : मालूम हो कि भारत से दुनिया भर में गेहूं का सप्लाई किया जाता है। ऐसे में गर्मी और लू के कारण गेहूं का उत्पादन प्रभावित होने की आशंकाओं के चलते भारत ने अपने मुख्य खाद्यान्न की कीमतों में भारी वृद्धि को रोकने के लिए गेहूं के निर्यात पर रोक लगा दिया है। इस फैसले से गेहूं और आटे की खुदरा कीमतों को संतुलित किया जा सकेगा, जिसमें पिछले एक साल में औसतन 14-20 प्रतिशत की वृद्धि हुई है, इससे पड़ोसी और कमजोर देशों की खाद्य जरूरतों को पूरा करने में भी सहायता मिलेगी।

अमेरिका ने भारत से कहा- फैसले पर फिर से विचार करें : बीते सोमवार को हुए वर्चुअल न्यूयॉर्क फॉरेन प्रेस सेंटर ब्रीफिंग में अमेरिकी राजदूत लिंडा थॉमस-ग्रीनफील्ड ने कहा कि “हमने भारत के फैसले की रिपोर्ट देखी है। हम देशों को निर्यात को प्रतिबंधित नहीं करने के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं क्योंकि हमें लगता है कि निर्यात पर किसी भी प्रतिबंध से भोजन की कमी बढ़ जाएगी। ऐसे में लोग भुखमरी के कगार पर हैं।” उन्होंने कहा, ” सुरक्षा परिषद के हमारी बैठक में भारत भी भाग लेगा। इसके अलावा हम उम्मीद करते हैं कि भारत बैठक में अन्य देशों के चिंताओं को सुनेंगे और पुर्नविचार करेंगे।

ये भी पढ़ें   Indian Railway : ट्रेन का कंफर्म टिकट करना है कैंसिल? जानिए - कितना मिलेगा रिफंड ..