28 January 2023

Sundar Pichai : कभी कॉल करने के लिए नही थे पैसे, पिता की सालभर की सैलरी से खरीदा था US का टिकट..

Sundar Pichai : कभी कॉल करने के लिए नही थे पैसे, पिता की सालभर की सैलरी से खरीदा था US का टिकट.. 1

Sundar Pichai : दुनिया की सबसे बड़ी दिग्गज टेक कंपनी Google के CEO सुंदर पिचाई (Sundar Pichai) को पिछले दिनों अमेरिका में भारत के प्रतिष्ठित पुरस्कारों में से एक गिने जाने वाले पद्म भूषण (Padma Bhusan) सम्मान से सम्मानित किया गया है.

यह पुरस्कार उन्हें भारत सरकार ने व्यापार और उद्योग श्रेणी में वर्ष 2022 के लिए दिया गया है. भारतीय मूल के अमेरिकी नागरिक सुंदर पिचाई को यह सम्मान अमेरिका में भारत के राजदूत तरणजीत सिंह संधू ने प्रदान किया. इस खास मौके पर Google और Alphabeat के CEO सुंदर पिचाई काफी भावुक भी दिखे. सुंदर पिचाई अक्सर ये कहते रहते है कि वो जहाँ भी जाते है भारत साथ जाता है।

चेन्नई में हुआ था सुंदर पिचाई का जन्म : सुंदर पिचाई को वर्ष 2019 में Google और Alphabet कंपनी का CEO बनाया गया था. Alphbet Google की पैरेंट कंपनी है. सुंदर पिचाई का जन्म 12 जुलाई को सन1972 में चेन्नई में हुआ था. उन्होंने अपनी शुरुआती पढ़ाई भारत से ही की थी. IIT खड़गपुर से इंजीनियर करने के बाद वारटन बिजनेस स्कूल से MBA किया था. सुंदर पिचाई आगे की पढ़ाई के लिए अमेरिका के स्टैनफर्ड यूनिवर्सिटी गए जहां पर उन्होंने मेटलर्जिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई करी. अमेरिका में रहने के दौरान उन्हें काफी ज्यादा संघर्ष भी करना पड़ा.

जब पहली बार देखा कम्प्यूटर : अपने दिए हुए एक इंटरव्यू में सुंदर पिचाई ने कहा था कि भले ही वह आज दुनिया की सबसे बड़ी Tech कंपनी Google के CEO हैं लेकिन वह आज भी जमीन से जुड़े हैं. वह अपने पुराने दिन, अपना संघर्ष और अपना बचपन कभी भी नहीं भूलते. इन्ही चीज़ों से उन्हें आगे बढ़ने की ऊर्जा मिलती है. उन्होंने यह भी बताया था कि जब वह अमेरिका आए थे तब ISD कॉल का चार्ज 2 डॉलर प्रति मिनट तक लगता था. ज्यादा चार्ज की वजह से वह अपने घर पर ज्यादा देर बात तक नहीं कर पाते थे.

सुंदर पिचाई के अनुसार जिंदगी में उन्होंने पहली बार कंप्यूटर अमेरिका में ही देखा था. आज पिचाई दुनिया के सबसे महंगे CEO हैं. US सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज कमीशन की सालाना प्रॉक्सी फाइल रिपोर्ट के मुताबिक सुंदर पिचाई की बेसिक सैलरी साल 2020 में 2 मिलियन डॉलर यानी कुल 15 करोड़ रुपये तक थी. इसके बाद जब उन्हें Alphabet का चार्ज मिला तो उनकी तनख्वाह बढ़ाकर 7.4 मिलियन डॉलर यानी करीब 52 करोड़ रुपये तक कर दी गई. आज सुंदर पिचाई का कुक नेटवर्थ करीब 5300 करोड़ रुपये तक का है.