28 January 2023

शर्मनाक! दुनिया में रहने के लिए सबसे महंगे शहरों की टॉप-100 लिस्टमें भारत की एक भी सिटी नहीं..

skyscrapper building

डेस्क : दुनियाभर में रहने के हिसाब से सिंगापुर (Singapore) और न्यूयॉर्क (New York) सबसे महंगे शहर में से एक हैं. यह दावा किया है लंदन की इकोनॉमिस्ट इंटेलिजेंस यूनिट के ‘वर्ल्डवाइड कॉस्ट ऑफ लिविंग सर्वे’ ने जिसके मुताबिक ये ऐसा पहली बार हुआ है, जब न्यूयॉर्क ने इस रैंकिंग में पहला स्थान हासिल किया है. इस सर्वे में जारी रैंकिंग में इजरायल का शहर तेल अवीव, जो कि पिछले साल टॉप पर था वो अब खिसककर तीसरे स्थान पर आ गया है.

दुनिया के सबसे बड़े शहरों में रहने की औसत लागत इस साल 8.1 फीसदी तक बढ़ी है जो 20 साल में अब सबसे ज्यादा है. इसकी वजह यूक्रेन में युद्ध और सप्लाई चेन पर कोरोना काल के असर को माना गया है. इसके साथ ही एनर्जी यानी तेल-बिजली गैस वगैरह की कीमतों में हुए इजाफे ने बड़े शहरों में महंगाई दर को भी दोगुना कर दिया है.

महंगे शहरों की लिस्ट में 3 भारतीय शहर भी शामिल : वैसे तो इस सूची में 3 भारतीय शहरों भी शामिल हैं, लेकिन इनमें से कोई भी भारतीय शहर टॉप 100 में शामिल नहीं है. भारतीय शहरों में बेंगलूरु 161वें, चेन्नई 164वें और अहमदाबाद 165वें स्थान पर काबिज है. यानी इस महंगी लिस्ट में देश की राजधानी दिल्ली और वित्तीय राजधानी मुंबई का नाम नहीं है.

लिस्ट में सबसे ज्यादा अमेरिकी शहर

दुनियाभर के 10 सबसे महंगे शहरों की लिस्ट में 3 अमेरिकी शहर न्यूयॉर्क, लॉस एंजिल्स और सैन फ्रांसिस्को भी शामिल हैं. कीमतों में बढ़ोतरी और डॉलर की मजबूती के बीच एक सर्वे में शामिल सभी 22 अमेरिकी शहरों ने रैंकिंग में बढ़त हासिल की है. इनमें से 6 यानी अटलांटा, शार्लोट, इंडियानापोलिस, सैन डिएगो, पोर्टलैंड और बोस्टन उन 10 शहरों में शामिल हैं, जिन्होंने रैंकिंग में इस बार सबसे बड़ी छलांग लगाई है. वहीं, अमेरिका में जहां महंगे शहरों की रैंकिंग में बढ़ोतरी हुई है तो ज्यादातर यूरोपीय शहरों की रैंकिंग में इस बार गिरावट देखी गयी है.

रूस के शहरों की रैंकिंग में बड़ा बदलाव

ग्लोबल सर्वे में जारी रैंकिंग में इजरायल का शहर तेल अवीव तीसरे स्थान पर पिछड़ गया है. पिछले साल के सर्वे में तेल अवीव दुनिया का सबसे महंगा शहर था. लेकिन सबसे बड़ा बदलाव रूस की राजधानी मॉस्को की रैंकिंग में हुआ है. यूक्रेन युद्ध के चलते बढ़ी बेतहाशा महंगाई की वजह से मॉस्को की रैंकिंग में 88 स्थानों का इजाफा हुआ है. इसी तरह रूस के एक और शहर सेंट पीटर्सबर्ग की रैंकिंग ने भी 70 पायदान की छलांग लगाई है.