ग्रेजुएट चायवाली को टक्कर देने आ गई ‘आत्मनिर्भर’ चायवाली, बोली – शादी नहीं करनी थी..इसीलिए खोली दुकान

best chaiwali

न्यूज़ डेस्क : बिहार की राजधानी पटना से अब आत्मनिर्भर चाय वाली की कहानी लोगों की प्रेरणा बनी है। पिछले दिनों पटना से ही एक ग्रेजुएट चाय वाली काफी सुर्खियों में रही। हालांकि की आत्मनिर्भर चाई वाली की कहानी ग्रेजुएट चाय वाली से अलग है। आत्मनिर्भर चाय वाली मोना है। मोना के परिवार वाले गरीबी के चले उनकी शादी करवा रहे थे।

लेकिन मोना आत्मनिर्भर होना चाहती थी अपने पैरों पर खड़ी होना चाहती थी। इसके लिए पटना के जेडी विमेंस कॉलेज की छात्रा रही मोना पटेल ने चाय की दुकान खोल ली। दरअसल, गुजरात एक युवक MBA चाय वाला के नाम से काफी चर्तित है। जिसे प्रेरित होकर कई शहरों से ग्रेजुएट चाय वाला से लेकर b com चाय वाली तक चाय के व्यापार में काफी प्रसिद्धि पाया। इसी कड़ी में पटना में वुमेंस कॉलेज के गेट पर ग्रेजुएट चाय बेचने वाली प्रियंका गुप्ता के बाद अब एक और लड़की मोना पटेल ज्ञान भवन के ठीक सामने चाय का दुकान खोला है। मोना ने अपनी आर्थिक स्थिति सुधारने के लिए चाय की शुरू की।

मूल रूप से समस्तीपुर निवासी मोना पटना में कंकड़बाग में रहती हैं। मोना के पिता पेशे से एक निजी स्कूल के शिक्षक हैं। मोना पटेल कहती हैं घर की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। इस वजह से पिता शादी करवा देना चाहते हैं। वहीं में फिलहाल शादी नहीं करना चाहती। साथी ही परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक करने के लिए कुछ करना था। हालांकि मुझे प्राइवेट नौकरी नहीं करनी। ऐसे में प्रियंका गुप्ता की वीडियो देख प्रेरित हुई। जिसके बाद चाय की दुकान चलाने का निर्णय लिया।

ये भी पढ़ें   खुशखबरी! घर के छत पर मुफ्त में लगाएं सोलर पैनल, जिंदगीभर के लिए फ्री हो जाएगी बिजली, जानिए- कैसे मिलेगा लाभ?

मोना कहती है मैं बहुत पहले ही स्टॉल खोल लेती लेकिन प्रियंका जी से सड़कों पर उतारने का हिमत मिला। मोना आगे कहती है मुझे ही नहीं बल्कि मेरे जैसे सभी लड़कियों को आगे बढ़ना चाहिए। आत्मनिर्भर बनना चाहिए ताकि दूसरे पर आश्रित न होना परे। मोना ने बताया कि उन्होंने शनिवार सुबह छह बजे अपनी चाय की दुकान खोली और दिन के एक बजे तक 1 हजार रुपये कमा चुकी हैं। मोना ने कहा कि अगर मेरा यह स्टॉल ठीक से चलता है तो मैं इसे एक ब्रांड बनाने और और शाखाएं खोलने की कोशिश करूंगी।