SBI ग्राहकों को झटका, महंगा हुआ ATM से पैसे निकालना, चैक के लिए भी देने होंगे ज्यादा पैसे

SBI ATM

डेस्क : देश के सबसे बड़े बैंक ने अपने ग्राहकों को झटका दिया है। बीएसबीडीए अकाउंट यानी बेसिक सेविंग बैंक डिपॉजिट अकाउंट को कोई भी भारत का नागरिक किसी भी बैंक में खुलवा सकता है। इस खाते को RBI द्वारा प्रमाणित किया गया है और RBI के आदेश के बाद, बैंक यह सुविधा लोगों को दे रहे हैं। यह 0 बैलेंस अकाउंट होता है। बीते दिनों में कई ऐसे मामले सामने आएं हैं जहाँ पर यह पाया की गरीबों के अकाउंट से बैंक अपनी कमाई कर रहे हैं। इन खातों के ज़रिए होने वाली कमाई को सर्विसेज के नाम पर लूटा गया है।

कोई भी ग्राहक PNB और SBI से चार बार से ज्यादा पैसे निकालता है तो उस पर 15 रुपए प्लस जीएसटी चार्ज लगता है। लाइव मिंट न्यूज़ मीडिया वेबसाइट के मुताबिक़ कोई भी ग्राहक सिर्फ 4 बार ही बिना किसी शुल्क के निकासी कर सकता है। IIT-बॉमबे का कहना है की SBI बैंक ने 308 करोड़ रूपए की कमाई की है। इस बैंक खाते में RBI द्वारा छूठ प्राप्त होती है। इस अकाउंट को खोलने के लिए किसी भी प्रकार का शुल्क नहीं देना होता। यह बिलकुल मुफ्त होता है। इसमें ग्राहक को यह चिंता भी नहीं करनी होती की इसमें कम से कम कितना बैलेंस रखना है। इस खाते से जुड़ी फ्री सर्विसेज इस प्रकार हैं फंड ट्रान्‍सफर, कैश विदड्रॉल और इंटरनेट बैंकिंग। यह सभी सेवाएं बिलकुल मुफ्त दी जाती हैं। SBI के पास इस वक्त 12 करोड़ खाताधारक हैं। इन खातों से 10 करोड़ की कमाई 12 अप्रैल तक की जा चुकी है।

बैंक अक्सर यह छोटी-छोटी रकम काटकर अच्छा ख़ासा मुनाफा कमा लेते हैं। कई शैक्षणिक संस्थानों की रिसर्च एंड डेवलपमेंट टीम का कहना है भारत के सबसे बड़े और विश्वसनीय बैंक इस वक्त 300 करोड़ से ऊपर की कमाई कर चुकें हैं। यह रकम 6 साल में ली गई है। बता दें की आने वाली 1 जुलाई 2021 को यह नियम लागू किये जाएंगे, इसके अंदर अगर आप आप 10 पेज वाला चेकबुक लेते हैं तो 40 रुपए के साथ GST भरना होगा और इमरजेंसी वाला चेकबुक लेते हैं तो 50 रूपए के साथ GST शुल्क भरना होगा, अगर आपको 25 पन्नों की जरूरत है तो आपको 75 रुपए रुपए के साथ GST भरना होगा।

You may have missed

You cannot copy content of this page