Breath Analyser के जरिए शराब पीने या ना पीने की ऑनलाइन रिपोर्ट होगी तैयार, ये है फायदे

Breath Analysers

डेस्क : अब शराबबंदी पर कड़ाई के नए – नए नियमों के साथ ही जल्द ही ब्रेथ एनालाइजर (Breath Analyser) में फूंक मारने पर इसकी रिर्पोट तैयार करना केवल जांच कर रहे अधिकारियों के भरोसे नहीं रहेगा। इसकी ऑनलाइन रिर्पोट ब्रेथ एनालाइजर ख़ुद ही भेजेगा। इससे यह साफ पता चल जाएगा कि किसी एरिया में ख़ास लोकेशन पर जांच के दौरान किस व्यक्ति ने शराब पी रखी थी और किसने नहीं।

ब्रेथ एनालाइजर की रियल टाइम रिपोर्टिंग में बाद में किसी तरह का हेरा-फेरी किया जाना संभव नहीं होगा। इसकी पूरी तैयारी उत्पादन एवं मद्य निषेध विभाग कर रहा है। उनकी योजना ब्रेथ एनालाइजर को डैश बोर्ड से जोड़ने की है। इसके माध्यम से हर एक क्षण का डाटा डैश बोर्डपर मद्य निषेध विभाग अपडेट कराता रहेगा।

इसके लिए जीपीआरएस सिस्टम से ब्रेथ एनालाइजर को जोड़कर इंटरनेट कनेक्टिविटी दी जाएगी। यदि कहीं पर इंटरनेट की सुविधा उपलब्ध नहीं है तो वहां डाटा मशीन में ही स्टोर हो जाएगा। जैसे ही इंटरनेट कनेक्टिविटी मिलेगी, डाटा डैशबोर्ड पर अपलोड हो जाएगा। इसके माध्यम से बाद में होने वाली कार्यवाई की मॉनिटरिंग भी की जा सकेगी।

बता दें, अब तक इस ब्रेथ एनालाइजर में बस अक्षांश और देशांतर शो करने की व्यवस्था है। नई प्रणाली से रिपोर्ट में होने वाले कई सारे गड़बड़ी को काफी हद तक दूर किया जा सकता है। साथ ही जांच कर रहे हैं उत्पाद कर्मियों या फिर पुलिसकर्मियों पर इसके माध्यम से निगरानी रखना भी आसान हो जाएगा। इसके लिए डैशबोर्ड बनाने के लिए टेंडर की तैयारी उत्पाद विभाग की ओर से की जा रही है।

ये भी पढ़ें   रेल टिकट बुक करते समय न भूले इस विकल्प को- हमेशा कन्फर्म होगी टिकट