‘पीएम- किसान’ योजना’ :6000 रुपये की मदद हो सकती है बंद, अगर नहीं किया यह काम

डेस्क : जिन किसानों ने पीएम-किसान सम्मान निधि स्कीम ली हुई है या इस स्कीम से जुड़े लाभ उठा रहे हैं, वह ज़रा सावधान हो जाएं क्यूंकि अगर आपने अभी तक अपने खाते के साथ अपना आधार नंबर नहीं जोड़ा है तो आपको ख़ासा परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। यह स्कीम केंद्र सरकार की ओर से इसलिए जारी की गई क्यूंकि पूरा देश किसानी पर टिका हुआ है और किसानी को महत्त्व देने के लिए और आगे बढ़ाने के लिए किसानो की मदद करना बेहद ही आवश्यक हो जाता है, जिसके चलते देश के किसानो के लिए यह योजना लाइ गई है। इस योजना के तहत हर किसान के परिवार को 6000 रूपए की धनराशि सालाना दी जाती है।

ऐसे में अगर आपका खाता आधार कार्ड से नहीं लिंक है तो आपको परेशानी आ सकती है। देश के कई किसान इस स्कीम का फायदा उठा रहे है और मोदी सरकार की इस योजना से संतुष्ट नजर आरहे है। हम आपको फिर याद दिला दें की अगर आपका आधार बैंक अकाउंट से नहीं लिंक है तो तुरंत लिंक करवा लीजिये। इससे आप बैंक के एक विश्वसनीय ग्राहक कहलायेंगे और आगे चल के आप यह भरोसा बैंक को दे पाएंगे की आप उसके ग्राहक हैं। ऐसे में अगर आपको भविष्य में कभी लोन लेने की ज़रुरत पड़ती है तो वहाँ भी ख़ासा सहायता मिलेगी।

अगर आपको अपने किसान योजना के पैसे लेने में समस्या आ रही है तो आप केंद्रीय कृषि मंत्रालय के हेल्प डेस्क नंबर पर फ़ोन लगा सकते हैं। जिसको पीएम हेल्पडेस्क भी कहा जाता है। डाइरेक्ट हेल्पलाइन नंबर इस प्रकार है 011-23381092 और अगर आप ईमेल के ज़रिये बात पहुँचाना चाहते हैं तो [email protected] पर संपर्क कर सकते हैं। इस योजना के लिए फार्मर वेलफेयर सेक्शन भी बैठता है जिसकी पूरी टीम दिल्ली में बैठती है और उनका नंबर इस प्रकार है 011-23382401 और अगर आप ईमेल से अपनी बात पहुँचाना चाहते हैं तो [email protected] से साध सकते हैं।

आप अगर इन श्रेणी में आते हैं तभी लाभ उठा सकते हैं आगर आप सरकारी टैक्स भरने में सक्षम हैं तो आप इसका लाभ नहीं उठा सकते। वह लोग जो सरकारी नौकरियों में लिप्त हैं जिसमें केंद्र और राज्य सरकार के मल्टी टास्किंग स्टाफ/चतुर्थ श्रेणी/समूह डी के कर्मचारियों को इसका लाभ मिलेगा। जिन भी लोगो को 10 हजार से अधिक पेन्सिन मिल रहा है वह भी इस योजना से वंचित रह जाएंगे। अगर आप डॉक्टर, इंजीनियर, वकील से लेकर एम् एल ऐ या मंत्री हैं तो भी यह योजना आपके लिए नहीं है। सर किसानो को हे इसका लाभ मिलता हैं जो ज़रूरी चीज़ें अपने खेतो के लिए लाना चाहते हैं।