भारत में बंद हो जाएगी कई ट्रेनें की परिचालन ! जानिए किन स्टेशनों पर स्टाॅपेज भी खत्म करने की तैयारी में जुटी सरकार

Railway Jobs

न्यूज डेस्क : भारतीय रेलवे समय-समय पर यात्रियों के हित में बड़ा फैसला लेती रहती है। ताकि, रेल यात्रियों को यात्रा करने में कठिनाइयों का सामना करना पड़े। जानकारी के लिए आपके बता दें कि कोविड के बाद देश में हर रोज तकरीबन 8202 ट्रेनों का परिचालन किया जाता है। इसी बीच रेलवे की ओर से खबर आ रही है कि इसमें से ज्यादातर ट्रेनों का टाइम टेबल परिवर्तित किया जाएगा। इस दौरान कई रेलगाड़ियां बंद भी हो जाएंगी। लाॅकडाउन की वजह से 73 डिवीजनों की करीब 500 रेलगाड़ियां बंद पड़ी हैं। इसका फायदा उठाते हुए रेलवे नई समय सारिणी तय कर लिया है।

रेलवे की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक, करीब 500 500 ट्रेनों को नहीं चलाने का फैसला लिया गया है। वहीं 1000 से ज्यादा पैसेंजर रेलगाड़ियों को एक्सप्रेस में और एक्सप्रेस ट्रेन को मेल एवं सुपरफास्ट में अपग्रेड करने का फैसला लिया गया है। इसमें सबसे दिक्कत वाली बात यह है कि ग्रामीण इलाकों के लगभग 10 हजार छोटे स्टेशनों पर इन रेलगाड़ियों का ठहराव बंद कर दिया जाएगा। रेलवे की ओर से पिछले डेढ़ साल से इस योजना पर काम जारी है। रेल मंत्रालय ने इसका नाम जीरो बेस्ड टाइम टेबल रखा है। बताते चलें कि रेलवे ने यह फैसला जीरो बेस्ड टाइम टेबल आईआईटी मुंबई (IIT MUMBAI) के साथ मिलकर तैयार किया है। इसके लागू होने से न सिर्फ ट्रेनों की स्पीड बढ़ जाएगी बल्कि संचालन का समय भी घट जाएगा। इसकी वजह से सभी 8202 रेलगाड़ियों के टाइम टेबल में 5 से 1ः30 तक का बदलाव हो जाएगा।

रेलवे ने जिन 10 हजार ट्रेनें के स्टाॅपेज को बंद करने का निर्णय लिया जा रहा है, उनमें से अधिकतर स्टाॅपेज धीमी गति से चलने वाली पैसेंजर ट्रेनों की हैं। वहीं जिन पैसेंजर रेलगाड़ियों में किसी भी हाल्ट पर न्यूनतम 50 यात्री चढ़ते या उतरते होंगे, वहां स्टाॅपेज बंद नहीं किया जाएगा।

You may have missed

You cannot copy content of this page