Indian Railway : अब ट्रेन में आपके पसंद के हिसाब से मिलेगा बर्थ, जानें – रेलवे का नया नियम..

Indian Railway

डेस्क : सीनियर सिटीजन को अक्सर ट्रेन में सफर करना थोड़ा कठिन लगता है। साथ ही आजकल ट्रेन में टिकट मिलना भी आसान नहीं है। तो यदि वरिष्ठ नागरिकों को ऐसे में अपर बर्थ मिल जाए तो उन्हें और मुश्किलों का सामना करना पड़ता है।

कुछ ऐसा ही असली मामला सामने आया, जहां एक 70 वर्षीय बुजुर्ग महिला गठिया से पीड़ित हैं। और उन्हे रेलवे ने अपर बर्थ का टिकट दे दिया। अब आप सोच ही सकते है अगर किसी गठिया रोग से पीड़ित महिला को ट्रेन में सबसे ऊपर की बर्थ यानी अपर बर्थ मिल जाए तो उनकी स्थिति कैसी होगी? जिसके बाद खुद रेलवे ने इसके नियम बताए।

IRCTC का नियम जान लीजिए : एक ट्विटर यूजर ने IRCTC को टैग कर ट्विटर पर पूछा, “मेरे परिवार की दो बुजुर्ग महिलाएं, मां और दादी को अपर बर्थ अलॉट हुआ है। टिकट बनाने के लिए आप किस तरह के सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल कर रहे हैं? क्या आप 70-80 साल की उम्र में अपर बर्थ पर चढ़ने में सक्षम होंगे? एक बूढ़ी औरत कैसे अपनी सीट पर चढ़ पाएगी। एक गठिया रोगी कैसे अपर बर्थ पर चढ़ने में सक्षम होगा? कृपया मुझे जवाब दें! क्या यही जनता के प्रति आपकी सेवा है?”

इस व्यक्ति के रिप्लाई में रेलवे द्वारा ट्विटर पर पूरी नियमावली रख दी गई। जिसमे बताया गया कि “भारतीय रेलवे की कम्प्यूटरीकृत आरक्षण प्रणाली में सीनियर सिटीजंस और 45 साल से ज्‍यादा उम्र की महिला यात्रियों को ऑटोमेटिक लोअर बर्थ अलॉट किया जाता है। भले ही आपने कोई विकल्‍प सिलक्‍ट ना किया हो। अगर सीनियर सिटीजंस के साथ कोई और भी यात्रा कर रहा है जो वरिष्ठ नागरिकों की कैटेगरी में नहीं आता तो रेलवे इन मामलों में लोअर बर्थ देने पर विचार नहीं करता।”

ये भी पढ़ें   Tour Package : अब IRCTC कराएगी थाईलैंड का टूर, जानें - कितना होगा किराया

लोअर बर्थ का होता है कोटा : इंडियन रेलवे के हिसाब से सीनियर सिटिजंस के लिए बुकिंग का कोटा अलग से निर्धारित होता है। जिसके लिए इसके लिए स्‍लीपर क्‍लास और ऐसी क्‍लास दोनों में कुछ निचली बर्थ रिजर्व कर दी जाती हैं। आपको बता दें स्लीपर क्लास में हर कोच में छह लोअर बर्थ और एसी 3 टियर और एसी 2 टियर क्लास में हर कोच में तीन लोअर बर्थ का कोटा सीनियर सिटीजंस के लिए रिजर्व कोटे पर निर्धारित कर दिया गया है।

बुक करते समय करें सिलेक्ट : यदि आप सीनियर सिटीजन की कैटेगरी में नहीं आते हैं, पर आपको अपनी सुविधा अनुसार लोअर बर्थ चाहिए तो IRCTC की वेबसाइट पर बुकिंग करते समय अपना प्रिफरेंस डाल दें। जिसके बाद नियमानुसार आपको लोअर सीट अलॉट कर सकता है।