ट्रेनों में सीटों को लेकर अब महिलाओं को नहीं होगी परेशानी, रेल मंत्री ने किया ऐलान

Train

डेस्क : अगर आप एक महिला हैं और अक्सर ट्रेन से सफर करती हैं तो आपके लिए खुशखबरी है। क्योंकि अब आपको ट्रेन में सीट पाने के लिए परेशान होने की जरूरत नहीं है। रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने अब भारतीय रेलवे में बसों और महानगरों की तरह महिलाओं के लिए सीटें आरक्षित कर दी हैं।

अब ट्रेनों में महिलाओं के लिए कोटा होगा। जिसके जरिए महिलाओं को कंफर्म सीट दी जाएगी। रेल मंत्री ने निर्देश को तत्काल प्रभाव से लागू करने को कहा है. इससे ट्रेन में महिलाओं के मिलने की समस्या हमेशा के लिए खत्म हो जाएगी। महिलाओं के लिए आरक्षित सीटों को ट्रेनों के विभिन्न वर्गों के अनुसार बांटा गया है।

लंबी दूरी की ट्रेनों में मिलेगी सुविधाएं : अक्सर आपने देखा होगा कि महिलाओं को रिजर्वेशन कराने के बावजूद कुछ ट्रेनों में खड़े होकर सफर करना पड़ता है। ऐसे में महिला को ज्यादा परेशानी होती है। जिनकी गोद में बच्चे हैं। रेल मंत्रालय ने इस समस्या को गंभीरता से लेते हुए ट्रेनों में महिलाओं के लिए सीटों के आरक्षण की घोषणा की है।

रेल मंत्री ने आरक्षित सीटों की घोषणा करते हुए कहा कि यह सुविधा केवल लंबी दूरी की ट्रेनों में ही उपलब्ध होगी। ताकि यात्रा के दौरान महिलाओं को किसी प्रकार की परेशानी का सामना न करना पड़े। टिकट बुकिंग के समय महिलाओं को केवल कंफर्म सीट ही दी जाएगी। यह बाद में किसी भी समस्या को रोक देगा।

कक्षा के अनुसार सीटें आवंटित की जाएंगी : रेल मंत्री ने कहा कि मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों में स्लीपर क्लास की महिलाओं के लिए छह बर्थ आरक्षित होंगी. उदाहरण के लिए, राजधानी एक्सप्रेस, गरीब रथ और दुरंतो सहित पूरी तरह से वातानुकूलित एक्सप्रेस ट्रेनों के तीसरे एसी (3एसी क्लास) में छह बर्थ महिलाओं के लिए आरक्षित की गई हैं। साथ ही स्लीपर कोच की बात करें तो हर कोच में 6 लोअर बर्थ महिलाओं के लिए रिजर्व होती हैं। साथ ही रेल मंत्री ने कहा कि रेलवे ने महिलाओं की सुरक्षा के लिए ट्रेनों में आरपीएफ कर्मियों की संख्या भी बढ़ा दी है.

ये भी पढ़ें   Indian Railway : अब नही लेट होगी ट्रेनें - सरकार ने बदल दिया 500 ट्रेनों का टाइम टेबल, जानें - डिटेल..