Indian Railway : अब चलती Train में ऑटोमेटिक कंफर्म होगा वेटिंग टिकट, शुरू हुई नई सुविधा..

Indian Railway

Indian Railway : आपने ट्रेन में सफर करने के दौरान हमेशा देखा होगा कि टीटीई के आसपास कुछ लोग मंडराते रहते हैं। तो ये वे लोग होते हैं, जो वेटिंग या आरएसी टिकट पर सफ़र कर रहे होते हैं। शायद कई बार आप ख़ुद भी इस अव्यवस्था का शिकार हुए होंगे। कई बार ऐसा होता है कि काफ़ी मिन्नत करने के बाद या फिर रिश्वत देने पर ही आपकी टिकट कंफर्म हुई होगी।

लेकिन, इस व्यवस्था को अब पूरी तरह से बदल दिया गया है। क्योंकि अब बिना टीटीई के चक्कर काटे आसानी से टिकट कंफर्म हो जाएगा। सभी टीटीई को इस नई सुविधा के लिए हैंड हेल्ड टर्मिनल डिवाइस से इस लैस कर दिया गया है। सिर्फ़ आगरा के रेलवे स्टेशन पर इस डिवाइस से 144 टीटीई को लैस कर दिया गया है। दरअसल, यात्रियों की सुविधा के लिए आगरा रेल मंडल में चलती ट्रेन में भी आसानी से वेटिंग टिकट वाले यात्री अब अपने टिकट कंफर्म करा सकेंगे।

बता दें कि इस सुविधा को केवल शुरुआती चरण में प्रीमियम ट्रेनों में शुरू किया गया था। वहीं अब सारे ट्रेनों यात्री इस सुविधा का लाभ ले सकते हैं। सीनियर डीसीएम अमन वर्मा ने कहा कि अब टिकट चेकिंग करने वाले टीटीई को नए गैजेट के साथ एचएचटी डिवाइस दिए गए हैं जिसे आरक्षण चार्ट के साथ लोड किया जाएगा। यात्री समय-समय पर आरक्षण प्रणाली का सर्वर जीपीआरएस के जरिए ट्रेन के रुकने वाले प्रत्येक स्टेशन पर टिकटों की बुकिंग के विवरण को अपडेट करता रहेगा।

खाली बर्थ की स्थिति जानने के लिए आरएसी या वेटिंग टिकट वाले यात्री एचएचटी डिवाइस से चेक कर सकते हैं। चलती ट्रेनों में इससे आरएसी या वेटिंग टिकट के यात्रियों को बर्थ आवंटित करने में भी पारदर्शिता आएगी। एचएसटी का उपयोग यात्रियों से अतिरिक्त किराया, जुर्माना या फिर कोई अन्य शुल्क लेने के लिए किया जा सकता है।

ये भी पढ़ें   हाइवे से हटेगा सारा टोल ब्लॉक- नितिन गड़करी के बयान से खुश हुए वाहन चालक

आपको बता दें कि रेलवे अधिकारियों को काफ़ी लंबे समय से टीटीई की मनमानी की शिकायतें मिलती रही थीं। ऐसे में इस समस्या का हल निकालने के लिए अधिकारियों ने नई सुविधा देने का फैसला किया है। आगरा रेल मंडल में आगरा फोर्ट स्टेशन पर 18, आगरा कैंट स्टेशन पर टीटीई को 101, और मथुरा जंक्शन पर 25 एचएचटी डिवाइस दिए गए हैं