4 February 2023

अब दुकानों पर नहीं बिकेगी खुली सिगरेट- भरना होगा इतना चालान

ciggarrete

अब दुकानों से नहीं खरीद पाएंगे खुली या सिंगल सिगरेट, जानें क्या है कारणवैसे तो धूम्रपान सेहत के लिए हानिकारक है फिर भी अगर आप धूम्रपान करते हैं तो आपके लिए एक बुरी खबर है। सरकार जल्द ही दुकानों पर सिंगल या खुली सिगरेट की बिक्री पर रोक लगा देगी। जिसका उद्देश्य तंबाकू उत्पादों की खपत को रोकना है।

दरअसल, संसद की स्थायी समिति ने तम्बाकू के उपयोग को नियंत्रित करने के लिए सिंगल सिगरेट की बिक्री को बैन करने की सिफारिश की है।संसद की स्थायी समिति ने अपनी रिपोर्ट में तर्क दिया कि खुली सिगरेट की बिक्री के कारण तंबाकू नियंत्रण अभियान (Tobacco Control Campaign) प्रभावित हो रहा है। इतना ही नहीं समिति ने सभी एयरपोर्ट्स पर स्मोकिंग जोन (Smoking Zone) से छुटकारा पाने का भी सुझाव दिया है।

World Health Organization (WHO) के दिशा-निर्देशों के अनुसार भारत सरकार को तंबाकू उत्पादों पर 75 प्रतिशत वस्तु एवं सेवा कर (GST) लगाना चाहिए। लेकिन मौजूदा समय में सरकार टैक्स स्लैब के मुताबिक बीड़ी पर देश में 22 प्रतिशत का टैक्स लगाती है। जबकि, सिगरेट पर 53 प्रतिशत और धुएं रहित तंबाकू जैसे गुटखा आदि पर 64 प्रतिशत GST लगाया जाता है। इसके साथ ही स्थाई समिति ने इस बात पर भी संज्ञान लिया कि जीएसटी जोड़ने के बावजूद तंबाकू प्रोडक्ट्स पर टैक्स में कुछ खास वृद्धि नहीं की गई।

ऐसे में समिति ने सिफारिश की है कि खुली या सिंगल सिगरेट की सेल और निर्माण पर प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए। साथ ही तम्बाकू प्रोडक्ट्स पर जीएसटी बढ़ाना चाहिए।हर साल 3 लाख लोग गंवा देते हैं जान (subhead) हम सभी जानते है कि शराब और तंबाकू के सेवन से कैंसर का खतरा बढ़ता है। संसद की स्थायी समिति की रिपोर्ट के मुताबिक, भारत में हर साल लगभग तीन लाख से ज्यादा लोग धूम्रपान के कारण मर जाते हैं। भारत में सार्वजनिक स्थानों पर धूम्रपान बैन होने के बावजूद, इस नियम का कड़ाई से पालन नहीं हो रहा है। इतना ही नहीं नियम तोड़ने पर 200 रुपए तक के जुर्माने का भी प्रावधान है।