अब दूध पर पड़ी महंगाई की मार, देश में कम हुए दूध उत्पादों की बिक्री

Milk

देश में महंगाई दर लगातार बढ़ती जा रही है। आटा, चावल, तेल, समेत कई खाद्य पदार्थ महंगे हो गए हैं। इसी क्रम में अब महंगाई की मार दूध पर भी पड़ रही है। रिसर्च रिपोर्ट के अनुसार, दूध की बढ़ती कीमतों के कारण तीन में से एक भारतीय परिवार या तो ब्रांड डाउनग्रेड कर रहा है या खपत कम कर रहा है।

दूध में दामों में बढ़त की शिकायतों का जवाब देते हुए लोकल रिसर्च में इस बात का अध्ययन किया गया है। इस रिसर्च से ये बात सामने आई है कि किस तरह से बढ़ती दामों से घरों के बजट प्रभावित हो रहे हैं।

ये रिसर्च में करीब 21,000 से अधिक लोगों की अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। ये देश भर के 311 जिलों से थे और उनमें से 69% पुरुष थे। एक-स्तरीय जिलों में उत्तरदाताओं का 41%, द्वि-स्तरीय जिलों में 34%, और त्रि-स्तरीय, चार-स्तरीय और ग्रामीण जिलों में 25% का योगदान था।

दूध और दूध से बने उत्पाद, जैसे दही, मक्खन, घी और छाछ, अधिकांश भारतीय घरों में सबसे लोकप्रिय खाद्य पदार्थों में से हैं। यूनाइटेड स्टेट्स डिपार्टमेंट ऑफ एग्रीकल्चर (यूएसडीए) की ‘डेयरी एंड प्रोडक्ट्स एनुअल – 2021’ रिपोर्ट के अनुसार, भारत न केवल दुनिया का सबसे बड़ा दूध उत्पादक है, बल्कि दूध और दूध उत्पादों का सबसे बड़ा उपभोक्ता भी है। बता दें कुछ दिनों पहले ही अधिकांश दूध कंपनियों ने दूध की कीमतों में 2 रुपये प्रति लीटर बढ़ा दिए थे। यह भारतीय उपभोक्ताओं के लिए बुरी खबर थी। पिछले कुछ महीनों में कंपनियों ने अपने दामों में दोबारा बढ़ोतरी की है।

ये भी पढ़ें   Indian Railway : अब ट्रेन में महिलाओं को नहीं होगी सीट की परेशानी, रेल मंत्री ने किया ऐलान..