अब 135 KM/HR की रफ़्तार से चलेगी दिल्ली मेट्रो – इन रूटों पर हवा से बाते करेगी

DMRC Metro

डेस्क : नई दिल्ली में दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) ने एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन पर सबवे की गति तेज कर दी है। इसके लिए आवश्यक प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। आपको बता दें की करीब एक साल में इस कॉरिडोर पर 120 किमी/घंटा की औसत रफ्तार से मेट्रो चलने की उम्मीद है। इस प्रकार यात्री नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से केवल 15 मिनट में इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के टर्मिनल 3 मेट्रो स्टेशन तक पहुंच सकते हैं।

इस दूरी को तय करने में फिलहाल 19 मिनट का समय लगता है। नई दिल्ली और द्वारका सेक्टर 21 के बीच इस एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन की लंबाई 22.7 किमी है। लाइन में उसके छह स्टेशन हैं: नई दिल्ली, शिवाजी स्टेडियम, धौलाकुआं, एरोसिटी, एयरपोर्ट टर्मिनल 3 और द्वारका सेक्टर 21। इस कॉरिडोर की गति सीमा 90 किमी / घंटा है। आज मेट्रो 80 किमी/घंटा की औसत गति से चलती है। इसलिए, मेट्रो से नई दिल्ली से हवाई अड्डे के टर्मिनल 3 तक 19.4 किमी की यात्रा करने में लगभग 19 मिनट लगते हैं।

DMRC के अनुसार, हाई-स्पीड मेट्रो ट्रेनों को समायोजित करने के लिए कॉरिडोर का निर्माण किया गया था। तो एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन की अनुमेय गति 135 किमी/घंटा हो सकती है। उसके बाद मेट्रो 120 किमी प्रति घंटे की औसत रफ्तार से चलेगी।डीएमआरसी का कहना है कि इस कॉरिडोर के साथ मेट्रो की स्पीड धीरे-धीरे बढ़ेगी। ऐसा करने के लिए, पहले ट्रैक टेंशन क्लैंप को हाई फ़्रीक्वेंसी टेंशन क्लैम्प से बदलें। ऐसे उपकरणों को मेट्रो ट्रैक पर लगाया जाएगा ताकि गति पर नजर रखी जा सके। उसके बाद मेट्रो की स्पीड बढ़ाकर 100 किमी/घंटा कर दी जाएगी।

ये भी पढ़ें   कुत्ते के काटने पर करें इन 6 स्टेप्स को फॉलो -बचेगा सारा पैसा और जान

एक महीने की निगरानी के बाद, गति बढ़कर 110 किमी / घंटा हो जाती है।एक महीने के बाद गति 120 किमी/घंटा है। इस प्रक्रिया का परीक्षण 6 महीने तक किया जाता है। मेट्रो रेल सेफ्टी बोर्ड की इस टेस्टिंग और मंजूरी के बाद यात्रियों को 120 किमी/घंटा की रफ्तार से मेट्रो चलाने का मौका दिया जाएगा। अगले महीने इस कॉरिडोर का विस्तार द्वारका सेक्टर 25 तक भी किया जाएगा।