December 6, 2022

पंचतत्व में विलीन हो गए मुलायम सिंह, कांपते हाथों से अखिलेश यादव ने दी मुखाग्नि..

पंचतत्व में विलीन हो गए मुलायम सिंह, कांपते हाथों से अखिलेश यादव ने दी मुखाग्नि.. 1

Mulayam Yadav merged into Panchtatva : धरतीपुत्र मुलायम सिंह (Mulayam Yadav ) यादव पंचतत्व में विलीन हो गए हैं। सैफई में यादव परिवार की कोठी से करीब 500 मीटर दूर मेला ग्राउंड पर उनके बेटे और उत्तरप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अपने पिता को मुखाग्नि दी। इसके पहले राष्ट्रीय सम्मान के साथ मुलायम सिंह यादव (Mulayam Yadav ) तिरंगे में लाए गए। उनके पार्थिव शरीर को मंत्रोच्चार के बीच वैदिक रीति से स्नान कराया गया। चंदन की चिता पर सोए धरतीपुत्र को अंतिम विदाई देने करीब डेढ़ लाख से भी ज्यादा लोग सैफई पहुंचे।

आपको बता दें मुलायम सिंह यादव (Mulayam Yadav ) के अंतिम दर्शन करने के लिए एक तरफ लाखों लोग उमड़ पड़े थे। भीड़ में बीच देश भर से वीआईपी लोगों के आने का भी सिलसिला जारी था। अंतिम दर्शन और श्रद्धांजलि का सिलसिला सुबह से शुरू हुआ जो शाम तक चलता रहा। अंत्येष्टि से ठीक पहले अंतिम दर्शन के लिए रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, राकांपा के अध्यक्ष शरद पवार और अभिनेता अभिषेक बच्चन ने मुलायम सिंह के अंतिम दर्शन किए।

सैफई में बारिश के बीच मुलायम सिंह के चाहने वालों उनके जाने से दुखी थे। समाजवादी विचारधारा के पुरोधा को तेलंगाना के सीएम के. चंद्रशेखर राव, राजस्थान के सीएम अशोक गहलौत और बिहार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव सीधे अंत्येष्टि स्थल पहुंचे और नमन करने पहुंचे और फिर अखिलेश यादव को साहस दिया।

इन नेताओं ने दी श्रद्धांजलि : यूपी सरकार के डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक, केशव प्रसाद मौर्य, कैबिनेट मंत्री राकेश सचान, जितिन प्रसाद, संजय निषाद और संजय सिंह ने नेताजी को श्रद्धासुमन अर्पित किए। सांसद रीता बहुगुणा, आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू, राज्यमंत्री असीम अरुण और सांसद देवेंद्र सिंह भोले भी सैफई मेला ग्राउंड पहुंचे और नेताजी के अंतिम दर्शन कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष नरेश टिकैत और राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत भी अंतिम दर्शन करने के लिए पहुंचे। राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष जयंत चौधरी ने भी अंतिम दर्शन किए। मेनका गांधी और उनके पुत्र वरुण गांधी ने भी सैफई पहुंचकर नेताजी के पार्थिव शरीर पर श्रद्धासुमन अर्पित किए। भाजपा नेता किरीट सोमैया ने भी श्रद्धांजलि दी।

ये भी पढ़ें   गर्व! गांव में पहली बार 12वीं करने वाली आदिवासी छात्रा ने पास की NEET परीक्षा..