जानिए कौन है सना रामचंद, जिसने पकिस्तान में लहराया हिन्दू महिलाओं का परचम – बनी पहली महिला असिस्टेंट कमिश्नर

Sana Ramchand

डेस्क : पाकिस्तान की एक हिंदू महिला जिसने सेंट्रल सिविल सर्विसेज की परीक्षा पास कर ली है। महिला की तारीफ भारत में रह रहे हिंदू समुदाय ने भी की है बता दें कि महिला का नाम सना रामचंद है जिसने पहली बार पाकिस्तान प्रशासनिक सेवा में असिस्टेंट कमिश्नर का पद हासिल किया है। फिलहाल वह सिंध इंस्टिट्यूट ऑफ़ यूरोलॉजी से एफसीपीएस कर रही है और जल्द ही वे एक क्वालिफाइड सर्जन बन जाएंगी। वह बचपन से ही हर परीक्षा में टॉप करती आई है।

सना रामचंद सिंध प्रांत के शिकारपुर जिले से आती है वह एम बी बी एस डॉक्टर है। सेना का सिलेक्शन 18553 छात्रों में से हुआ है बता दें कि इन सभी छात्रों में से मात्र 79 महिलाओं का चयन हुआ है, जिसमें सना का भी नाम है। जब उनका रिजल्ट आया तो उन्होंने ट्विटर पर लिखा वाहेगुरु जी का खालसा वाहेगुरु जी की फतेह। अल्लाह की कृपा से उनका राजस्थान प्रशासनिक सेवा में चयन हो गया है, सना ने अपने माता-पिता को भी इसका श्रेय दिया है।

बता दे की यह परीक्षा 2020 में आयोजित की गई थी। इस परीक्षा में असिस्टेंट कमिश्नर बनने के बाद सना काफी खुश है। वह इस खबर से बिल्कुल भी आश्चर्यचकित नहीं है क्योंकि उनका कहना था कि उनको अपने आप पर पूरा भरोसा था कि वह चयनित हो जाएंगी। वह कहती हैं कि मुझे बचपन से ही सफलता पाने का शौक रहा है। सना ने तैयारी करने के लिए किसी की मदद नहीं ली। फिलहाल सना कराची में रह रही हैं उन्होंने बस इंटरव्यू पास करने के लिए कोचिंग की थी। बता दें कि भारतीय मूल की महिलाएं पाकिस्तान में कुछ खास नहीं कर पाती हैं, लेकिन हिंदू समुदाय की महिला ने जो कर के दिखाया है वह काबिले तारीफ है।

You may have missed

You cannot copy content of this page