जानिए मुकेश अम्बानी के दोनों बच्चों ने कहाँ से और कितनी की है पढाई, बचपन में मिलते थे 5 रूपए पॉकेट मनी

Ambani Family

डेस्क : भारत के सबसे अमीर आदमी और सबसे प्रतिष्ठित इंडस्ट्री रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के मालिक मुकेश अंबानी के तीन बच्चे हैं जिन में से दो बेटे और एक बेटी है। बेटों की बात करें तो सबसे पहले नाम आता है आकाश अंबानी का जिनका जन्म 23 अक्टूबर 1991 को हुआ था, उसके बाद 10 अप्रैल 1995 को अनंत अंबानी का जन्म हुआ था।

आकाश अंबानी की पढ़ाई कैंपियन स्कूल के साथ-साथ धीरूभाई अंबानी इंटरनेशनल स्कूल से पूरी हुई है। उसके बाद जब घरवालों की तरफ से कहा गया कि तुम्हें और आगे पढ़ना चाहिए तो वह अमेरिका चले गए और वहां पर उन्होंने ब्राउन यूनिवर्सिटी से इकोनॉमिक्स में स्नातक हासिल किया। दूसरी तरफ उनके भाई अनंत अंबानी ने धीरूभाई इंटरनेशनल स्कूल से अपनी पढ़ाई पूरी की और फिर रोड आईलैंड चले गए, जहां पर उन्होंने ग्रेजुएशन पूरी की।

अनंत अंबानी बताते हैं कि वह जब 11वीं कक्षा में पढ़ रहे थे तो उनकी क्लास टीचर ने कहा कि रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड पर निबंध लिखो तब उनको यह मालूम नहीं था कि उनकी कंपनी कितनी पैसे वाली है। उसके बाद जब निबंध लिखा गया तो उनको रिलायंस इंडस्ट्री की संपत्ति का पता चला। बता दें कि वह बचपन से ही अस्थमा के मरीज रहे हैं। जिसके चलते उनका काफी वजन बढ़ गया था। लेकिन, मात्र 18 महीनों की मेहनत मशक्कत से उन्होंने 108 किलो वजन कम कर दिया और लोगों के ध्यान के आकर्षण का केंद्र बने।

बता दें कि धीरूभाई अंबानी इंटरनेशनल स्कूल को स्वर्गीय धीरूभाई अंबानी की याद में उनके बेटे मुकेश अंबानी द्वारा बनवाया गया है। इसकी शुरुआत 2003 में हुई थी। तब से यह नंबर वन इंटरनेशनल स्कूल में गिना जाता है, बता दें कि यहां पर ज्यादातर नेताओं के साथ-साथ फिल्म जगत में काम करने वालों के बच्चे पढ़ते हैं। मुकेश अंबानी की शादी 1985 में हुई थी। मुकेश अम्बानी को घर का खाना पसंद है और वह बाहर खाना नहीं पसंद करते हैं। ज्यादातर वह दाल चावल ही खाते हैं और पसंदीदा खानों में उनके दाल चावल ही आता है।

उनके घर के लोग उनको प्यार से मुक्कु बुलाते हैं। जब उनके घर पर कोई मेहमान आता है तो उसको वह अपने हाथों से ही खाना परोसते हैं। इसीके के साथ उनको नीता अंबानी का क्लासिकल डांस देखना काफी पसंद है। वह अपना जन्मदिन मनाने में इतना विश्वास नहीं रखते हैं जितना वह नीता अम्बानी और घर पर रह रहे बच्चों के जन्मदिन मनाने का करते हैं। वह कहते हैं की बचपन मैं बच्चों को मात्र 5 रूपए ही पॉकेट मनी दिया करता था। उनका परिवार पंडित रमेश भाई ओझा के संपर्क में रहता है जो पूजा पाठ करवाते हैं। मुकेश अम्बानी हमेशा से ही एक सादे इंसान की तरह रहते हैं।

You cannot copy content of this page