जानिए रेलवे का वो नियम जिसके जरिए- आप बिना ट्रेन टिकट के यात्रा कर सकते हैं

Indian Railway

डेस्क : भारत में प्रतिदिन लाखों यात्री ट्रेन से यात्रा करते हैं। अगर आप भी ट्रेन से सफर करते हैं तो आपके लिए ट्रेनों से जुड़े भारतीय रेलवे के नियमों की जानकारी होना जरूरी है। ताकि जरूरत पड़ने पर ही आप अपनी सटीक जानकारी के आधार पर कार्रवाई कर सकें। कई बार ट्रेन से सफर करने वाले यात्री घर पर ही ट्रेन का टिकट भूल जाते हैं, ऐसे में यात्रियों को बड़ी परेशानी का सामना करना पड़ता है। हालांकि कुछ यात्री अपने स्मार्टफोन पर टिकट लेने के लिए तस्वीरें लेते हैं, लेकिन एक दुविधा बनी रहती है कि क्या यह उपयोगी है। आज इस लेख में हम ट्रेन टिकट के संबंध में महत्वपूर्ण नियमों की व्याख्या करने जा रहे हैं।

स्मार्टफोन पर ट्रेन टिकट की तस्वीरें इस मामले में मान्य नहीं हैं: रेलवे के नियम में कहा गया है कि अगर आपने रिजर्वेशन काउंटर से टिकट खरीदा है, लेकिन टीटी को नहीं दिखा सकते हैं, तो आपके लिए यात्रा करना मुश्किल हो सकता है। सीट बर्थ कंफर्म होने के बाद भी टिकट जरूरी माना जाता है। इस स्थिति में स्मार्टफोन संदेश या टिकट की तस्वीरें मान्य नहीं हैं। हालांकि, यात्री कुछ शर्तों के तहत यात्रा कर सकते हैं। इसलिए यात्रियों को टीटी को अपनी पहचान साबित करनी होगी और टिकट की कीमत के साथ जुर्माना भी भरना होगा।

इन लोगों को अपने स्मार्टफोन में टिकट की तस्वीरें रखने को मिलती हैं: इसके विपरीत, यदि कोई यात्री भारतीय रेलवे का टिकट ऑनलाइन खरीदता है, तो कुछ सुविधाएं प्रदान की जाती हैं। यदि यात्री भारतीय रेलवे की आधिकारिक वेबसाइट या ऐप का उपयोग करके टिकट खरीदते हैं, तो स्मार्टफोन के माध्यम से टिकट की सॉफ्ट कॉपी मान्य होती है। रेलवे द्वारा कन्फर्म किया जा रहा सीट मैसेज भी इस मामले में मान्य हो जाता है। आपको बता दें कि शुरुआती चरणों में ऑनलाइन टिकट का प्रिंटआउट रखने की आवश्यकता थी लेकिन अब प्रिंटआउट न होने पर भी कोई यात्रा कर सकता है।

ये भी पढ़ें   अब साल भर में सिर्फ 15 LPG सिलिंडर में ही चलाना होगा काम - जानें डिटेल