केरल के लड़के ने बनाया माइक और स्पीकर वाला स्पेशल मास्क – बात करने में नहीं होगी कोई परेशानी

Microphone Mask

डेस्क : कोरोना महामारी के बीच भारत के युवा नवाचार की दिशा में आगे बढ़ते दिख रहे हैं। दक्षिण भारत के केरल राज्य में त्रिशूर गवर्नमेंट इंजीनियरिंग कॉलेज के फर्स्ट ईयर के बीटेक छात्र ने एक ऐसा मास्क तैयार किया है जिसमें ब्लूटूथ माइक और स्पीकर लगा हुआ है। छात्र के नाम केविन है। केविन का कहना है कि जब लोग मास्क पहन कर एक दूसरे से बात करते हैं तो उनको काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है।

इन मुश्किलों को खत्म करने के लिए केविन ने नया अविष्कार किया है। केविन के माता-पिता डॉक्टर है और जब से कोरोना महामारी शुरू हुई है तब से उनके माता-पिता को पेशेंट के साथ बात करने में काफी तकलीफ आ रही है। केविन ने बताया कि सबसे पहले उन्होंने अपने माता पिता की मदद ली और एक प्रोटोटाइप तैयार किया। इसके बाद जब ब्लूटूथ स्पीकर और माइक वाले मास्क की डिमांड बढ़ गई तो उन्होंने इसका और उत्पादन बढ़ा दिया। इस मास्क में केविन ने ब्लूटूथ माइक और एक चुम्बक लगाया हुआ है।

मास्क पर जिस तकनीक का इस्तेमाल किया जा रहा है वह पूरा का पूरा ब्लूटूथ ब्लूटूथ पर आधारित है। ऐसे में मास्क पर लगा डिवाइस एक चुंबक के जरिए चिपक जाता है और इससे डॉक्टरों को किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं होती। जिन डॉक्टरों ने इस मास्क का इस्तेमाल किया है उन्होंने इसका उपयोग बिलकुल सही बताया है। फिलहाल केविन ऐसी कंपनियों को ढूंढ रहे हैं जो इन ब्लूटूथ मास्क का बड़े लेवल पर उत्पादन कर सके। इस तरह के मास्क फिलहाल सिर्फ दक्षिण भारत के डॉक्टर इस्तेमाल कर रहे हैं। फिलहाल केविन के पास पर्याप्त पैसे नहीं है कि वे इसका मास प्रोडक्शन कर सकें। उनका कहना है कि अगर कोई बड़ी कंपनी उनका साथ दे तो यह काफी लोगों की मदद कर सकता है।

You cannot copy content of this page