Johnson Baby के प्रोडक्ट पर कैंसर फैलाने का बड़ा आरोप – लगा 15 हजार करोड़ का जुर्माना..

Johnson Baby Powder

डेस्क : हर घर में अपना छाप छोड़ने वाला जॉनसन बेबी पाउडर विवाद में आ गया है। इस पाउडर की बिक्री में काफी गिरावट दर्ज की गई है आलम यह है कि इसे बंद किया जा सकता है। इस कंपनी को लेकर अमेरिका में विवाद चरम पर है। अमेरिका में इस पाउडर पर कंज्यूमर सेफ्टी केस चल रहा है। इस वजह से कंपनी बड़ा फैसला लेने पर मजबूर है। यहां तक की कंपनी पूरी दुनिया के पाउडर बाजार में इसे बंद करने जा रही है।

ये है विवाद का कारण : बता दें कि जॉनसन एंड जॉनसन कंपनी ने 2020 में ही अपनी जॉनसन बेबी पाउडर पर अमेरिका और कनाडा जैसे जगह में प्रतिबंध लगा दी थी। दरअसल यह विवाद तब तूल पकड़ा जब इस पाउडर में एल्बेस्ट्स का एक हानिकारक फाइबर देखने को मिला। हानिकारक फाइबर से कैंसर होने की संभावना होती है। बता दें कि जॉनसन एंड जॉनसन कंपनी पर 35000 महिलाओं की ओर से बच्चेदानी का कैंसर होने का गंभीर आरोप मैं केस किया गया था।

कोर्ट ने लगाया 15 हजार करोड़ रुपए का जुर्माना : मिली जानकारी के मुताबिक इस केस में कंपनी के ऊपर कोर्ट ने 15000 करोड़ रुपए का जुर्माना भी लगाया। कोर्ट ने कहा कि कंपनी की ओर से बच्चों के जीवन के साथ खिलवाड़ किया गया है। इसके अलावा कंपनी पर यह भी आरोप है की अपने प्रोडक्ट में एस्बेस्टस मिलाकर बेच दी है। हालांकि कंपनी अपनी पाउडर को ब्रिटेन सहित कई अन्य देशों में अभी भी बेच रही है। अब कई देशों में इस पर सवाल उठने शुरू हो रहे हैं। अमेरिका में यह प्रोडक्ट पूर्ण रूप से बंद है। अब देखना होगा कि बाकी अन्य देश इस पर क्या विचार करती हैं।

ये भी पढ़ें   अब अविवाहित महिला भी करा सकती है एबॉर्शन - SC ने लिया ऐतिहासिक फैसला..