झारखण्ड की बेटी दीपिका कुमारी ने रचा इतिहास, विश्व कप में 3 गोल्ड मेडल जीत बनीं दुनिया की नंबर 1 तीरंदाज

Deepika

डेस्क : झारखण्ड की बेटियों ने फ्रांस में जाकर भारत का तिरंगा लहराया है। झारखण्ड की बेटी दीपिका ने 5 घंटे की तीरंदाज़ी के भीतर 3 स्वर्ण पदक अपने नाम किए हैं। दीपिका ने जब तीरंदाज़ी अपने पति के साथ की तब उन्होंने गोल्ड मैडल हासिल किया। बता दें की उनके पति अतनु दास भी एक निशानेबाज़ हैं, जब उन्होंने अकेले प्रतियोगिता खेली तो उसमें भी बाज़ी मार ली। दीपिका तीरंदाज़ी के खेल में इतिहास रच दिया है क्यूंकि वह एक ही दिन में 3 पदक जीत चुकी है।

बता दें की भारत ने फाइनल में मेक्सिको की टीम को हराया। अंकिता और कोमलिका बारी ने दीपिका का खूब साथ दिया। यह तीनो बेटियां झारखंड की हैं। दीपिका ने जिस तरह से अपना यह अद्भुत खेल खेला है, उसकी लोग सराहना कर रहे हैं। झारखंड के मुख्य मंत्री सोरेन से लेकर अन्य दाल के नेताओं ने दीपिका को जीत की बधाई दी है। विश्व कप स्टेज 3 में रिकर्व व्यक्तिगत स्पर्धा को 6-0 से जीतकर स्वर्ण पदक की अपनी हैट्रिक पूरी की. इस जीत के साथ दीपिका दुनिया की नंबर 1 महिला तीरंदाज बन गई हैं.

भारत की तीरंदाज़ी का स्वर्ण पदक पाने की दौड़ में दीपिका, अंकिता और कोमलिका बारी ने जीत ली है। भारत पिछले हफ्ते मुकाबले में पीछे हो गया था लेकिन इस हफ्ते ग़जब की वापसी करते हुए जीत दर्ज की। विश्व कप जीतने के लिए जहां उन्होंने बीते हफ्ते काफी संघर्ष किया वहीं इस बार तिकड़ी ने मात्र दो महीने में अपना दूसरा विश्व खिताब जीत लिया और भारत का नाम ऊंचा किया। दीपिका कहती हैं की विश्वकप में तीनो गोल्ड मैडल जीतना किसी सपने से कम नहीं है, लेकिन मैं अभी नहीं रुकूंगी क्यूंकि आगे और भी कम्पटीशन खेलने हैं।

दीपिका के पति अंतानु दास ने बताया की 30 जून 2021 को उनकी शादी को 2 साल हो जाएंगे और इससे बड़ा उनकी एनिवर्सरी का कोई और गिफ्ट नहीं हो सकता। मुझे ऐसा लगता है की हम दोनों एक दुसरे के लिए बनें हैं लेकिन जब हम खेल के मैदान पर होते हैं तब आपसी संबंध को भुलाकर एक खिलाड़ी की तरह सोचते है और एक दुसरे को मोटिवेट करते हैं। इससे पहले दीपिका ने मिक्स्ड आर्चरी 2016 में खेली थी।

You cannot copy content of this page