भारत का पहला CNG ट्रैक्टर लांच , किसानों की लागत घटाने और आय बढ़ाने में करेगा मदद

CNG Tractor

न्यूज डेस्क : भारत सरकार के द्वारा किसानों को मदद करने के लिए व इंधन को खपत होने से बचाने के लिए एक CNG से चलने वाला देश का पहला ट्रैक्टर लॉन्च किया गया है ।‌ ट्रेक्टर की लांचिंग केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने शुक्रवार को किया। यह ट्रैक्‍टर रॉमैट टेक्‍नो सॉल्‍यूशन और टोमासेटो एकाइल इंडिया ने संयुक्‍त रूप से विकसित किया है। यह किसानों को उनकी लागत घटाकर आय बढ़ाने में मदद करेगा।

मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि इस ट्रैक्‍टर की मदद से ग्रामीण भारत में रोजगार के अवसर पैदा करने में भी मदद मिलेगी। इस ट्रैक्‍टर की मदद से किसानों को हर साल उनके ईंधन खर्च में 1 लाख रुपए तक की बचत होगी, जिससे उनका जीवन स्‍तर सुधारने में मदद मिलेगी।

  • CNG ट्रैक्टर से होंगे ये फायदे, प्रदूषण होगा कम :- प्रदूषण कंट्रोल करने में CNG फायदेमंद होती है। CNG ट्रैक्टर से कार्बन उत्सर्जन कम होगा। डीजल इं‍जन की तुलना में CNG इंजन 70 प्रतिशत कम उत्‍सर्जन करता है।
  • बढ़ेगी किसानों की आय : अन्य किसी भी ईंधन के मुकाबले CNG सस्ती पड़ती है। ऐसे में CNG ट्रैक्टरों से किसानों की आय बढ़ाने में मदद मिलेगी।
  • इंजन लाइफ मिलेगी ज्यादा :-इसे नए तकनीक से कन्वर्ट किया गया है। इसलिए CNG इंजन की लाइफ पारंपरिक ट्रैक्टरों से ज्यादा होगी। CNG फिटेड ट्रैक्टर्स में लेड की मात्रा नहीं होती है। इसके चलते इंजन लंबे समय तक काम करेगा।
  • माइलेज भी ज्यादा – डीजल की तुलना में CNG ट्रैक्टरों का माइलेज भी काफी अधिक होगा। इसलिए इसके इस्तेमाल से ईंधन पर किसानों के होने वाले खर्च कम होंगे।

CNG है दुनिया की भविष्य मंत्रालय ने कहा कि CNG ही भविष्‍य है। वर्तमान में पूरी दुनिया में 1.2 करोड़ वाहन प्राकृतिक गैस से चल रहे हैं और कई कंपनियां और नगर निगम हर दिन CNG वाहनों को अपने बेड़े में शामिल कर रही हैं। भारत में ये ऐसा पहला ट्रैक्टर है जो CNG युक्त होगा। CNG ट्रैक्‍टर भी डीजल इंजन की तुलना में अधिक या बराबर पावर पैदा करता है। डीजल इं‍जन की तुलना में CNG इंजन 70 प्रतिशत कम उत्‍सर्जन करता है। डीजल की मौजूदा कीमत 77.43 रुपए प्रति लीटर पर किसानों को इस ट्रैक्‍टर की मदद से 50 प्रतिशत तक की बचत होगी, क्‍योंकि CNG की मौजूदा कीमत 42 रुपए प्रति किलोग्राम है।

You may have missed

You cannot copy content of this page