Indian Railway : वाराणसी-हावड़ा के बीच शुरू होगी नई Vande Bharat Express, जानें- रूट और किराया..

Indian Railway : वाराणसी-हावड़ा के बीच शुरू होगी नई Vande Bharat Express, जानें- रूट और किराया.. 1

डेस्क : फिलहाल नई दिल्‍ली से वाराणसी और कोलकाता तक बुलेट ट्रेन का संचालन अधूरा है तो दूसरी ओर सेमी हाईस्पीड ट्रेन की प्राइमरी मेंटेनेंस के लिए नया वाशिंग लाईन विकसित करने की कवायद तेज हो गई है साथ ही वाराणसी और कोलकाता के बीच सेमी हाईस्पीड ट्रेन चलाने की योजना में तेजी आई है। अब काशी से कोलकाता तक का सफर यात्री वंदेभारत एक्‍सप्रेस से करेगें। रेलवे की ओर से इसके लिए तैयारियां इसी माहीने के शुरुआत से ही चल रही हैं। यह कयास लगाए जा रहें है कि अक्‍टूबर या नवंबर माहीने के आसपास पीएम नरेन्‍द्र मोदी इस ट्रेन को अपने वाराणसी दौरे पर हरी झंड़ी दिखाएगें।

एयरपोर्ट की तर्ज पर विकसित बनारस स्टेशन से वंदे भारत एक्सप्रेस चलाने की कवायद तेज हुई है। यहां सेमी हाईस्पीड ट्रेन की प्राइमरी मेंटेनेंस के लिए नया वाशिंग लाइन तैयार हो रही । संसाधन विकसित करने के साथ ही वाराणसी और कोलकाता के बीच प्रस्तावित सेमी हाईस्पीड ट्रेन चलाने की योजना में तेजी आई है। साथ ही रेल मंत्रालय की ओर से ट्रेन को हरी झंडी का इंतजार है। वही वाराणसी से नई दिल्‍ली तक के लिए एक वंदेभारत एक्‍सप्रेस ट्रेन चलाई जा रही है. बीते दिनों नई वंदे भारत एक्‍सप्रेस ट्रेन की तस्‍वीरें भी रेलवे ने जारी की थी।

देशभर में 75 वंदे भारत एक्सप्रेस चलाने की तैयारियों के बीच कोलकाता और काशीवासियों के लिए अच्छी खबर है। बनारस स्टेशन से कोलकाता के लिए सेमी हाईस्पीड ट्रेन चलाने की चर्चा ने एक बार फिर से जोर पकड़ा लिया है जो अब जमीन पर उतरने को तैयार है। इसके साथ नए वाशिंग लाइन का निर्माण और सेमी हाईस्पीड ट्रेन के मानकों के अनुरूप संसाधन विकसित की जा रही है। शेड में विद्युत विभाग की ओर से ओएचई तार बिछाया गया है. पहले चरण में कंस्ट्रक्शन से संबंधित काम भी लगभग पूरे हो चुके है। इसके पूर्व के दो वाशिंग पिट कैमटेक तकनीक के अधार पर बनाए गए है अब तीसरा भी इसी आधार पर बनाया जा रहा है। बनारस डिपो में कैमटेक तकनीक से बनने वाले वाशिंग पिट में एलएचबी रैक और वंदेभारत के रैक के प्राइमरी रखरखाव की भी जिम्‍मेदारी पूरी होगी।

ये भी पढ़ें   Air India में छात्रों और सीनियर सिटीजन का सफर हुआ महंगा, अब देने होंगे अधिक पैसे, जानें अब कितना मिलेगा छूट

पूर्व रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा के कार्यकाल में चार वर्ष पूर्व बनारस स्टेशन से हावड़ा तक वंदे भारत एक्सप्रेस चलाने की प्रक्रिया शुरू हो गई थी। इस संदर्भ में पूर्वोत्तर रेलवे वाराणसी प्रशासन की ओर से हेड क्वार्टर के जरिए रेलवे बोर्ड को एक प्रस्ताव बनाकर भेजा गया है. हालाकि अपरिहार्य कारणों से इस दिशा में कोई निर्णय नहीं लिया जाएगा । एक बार फिर बने माहौल में वाराणसी – हावड़ा वन्दे भारत एक्सप्रेस की योजना पाईप लाईन से जल्द ही बाहर निकाली जाएगी. विभागीय सूत्रों की हम माने तो बनारस स्टेशन से गोरखपुर के लिए भी एक सेमी हाईस्पीड ट्रेन चलाने का प्रस्ताव जारी किया गया है.