भारतीय गणितज्ञ निखिल श्रीवास्तव ने 2 अन्य लोगों के साथ, रामानुजन रेखांकन का हल खोज निकालने में शीर्ष अमेरिकी पुरस्कार जीता

nikhil srivastav mathematician from india

nikhil srivastav mathematician from india

डेस्क : युवा भारतीय गणितज्ञ, निखिल श्रीवास्तव को प्रतिष्ठित 2021 के माइकल और शीला हेल्ड पुरस्कार के विजेता घोषित किया गया है, इनके साथ दो और लोग मौजूद हैं आपको बता दें की इन्होने कैडिसन-सिंगर समस्या और रामानुज दरसन पर लंबे समय तक सवाल हल किए हैं। नेशनल एकेडमी ऑफ साइंसेज के मुताबिक़ कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय, बर्कले, एडम मार्कस, इकोले पॉलीटेक्निक फेडरेल डी लॉज़ेन (ईपीएफएल) और येल विश्वविद्यालय के डैनियल एलन स्पिलमैन के श्रीवास्तव को 2021 माइकल और शीला हेल्ड पुरस्कार दिया जाएगा।

पुरस्कार के साथ साथ उनको 1 लाख डॉलर का भी इनाम मिलेगा। कैडिसन सिंगर की समस्या को उन्होंने सोल्व कर दिया है जो काफी समय से नहीं पूरी की गई थी। रामानुजन के बड़े बड़े ग्राफ को भी उन्होंने सोल्वे कर दिया है आपको बता दें रामानुजन के बेहद ही महत्वपूर्ण कार्य अधूरे रह गए थे क्यूंकि उनकी मृत्य 32 वर्ष की आयु में हो गई थी। उनके अधूरे काम को भारत के निखिल श्रीवास्तव ने पूरा कर दिया है जिससे खुश होकर अमेरिका की यूनिवर्सिटी उनको इनाम देगी।

इसके सभी कार्यों को 2015 में छापा गया था। लेकिन इसके बाद वह अपने कार्य में लगे रहे। यह कार्य वह बीते दशकों से कर रहे थे और दशकों बाद उनको सफलता मिली है। माइकल और शीला हेल्ड पुरस्कार हर वर्ष दिए जाते हैं और दहनशील और असतत अनुकूलन, या कंप्यूटर विज्ञान के संबंधित क्षेत्रों के एल्गोरिदम और जटिल सिद्धांत के डिजाइन में उत्कृष्ट, अभिनव, रचनात्मक और प्रभावशाली अनुसंधान को सम्मान दिया जाता है।

You cannot copy content of this page