तिरंगे झंडे के कोड में हुआ बड़ा बदलाव अब तिरंगा फहराने से पहले जरूर करना होगा ये काम 

indian flag

डेस्क : क्या आप सभी जानते हैं कि भारत के राष्ट्रीय ध्वज को रात में फहराने की अनुमति नहीं थी जाती थी लेकिन अब से ऐसा किया जाएगा जी हां हमारे तिरंगे को अब लोग रात में भी फहराता हुआ देख सकेंगे। बता दें कि भारत सरकार ने फ्लैग के कोर्ट में कुछ नए बदलाव करें हैं आपको बता दें कि केंद्र सरकार ने आजादी के अमृत महोत्सव के चलते 13 अगस्त 2022 से लेकर के 15 अगस्त 2022 के बीच एक नया कार्यक्रम लॉन्च करा है जिसका नाम है हर घर तिरंगा इस कार्यक्रम को ध्यान में रखते हुए देश के राष्ट्रीय ध्वज को फहराने के नियम कुछ बदल दिए गए हैं।

अभी तक पॉलिस्टर के कपड़े से बने हुए झंडे को फहराने की अनुमति नहीं दी गई थी यानी कि ऐसे कपड़े से बने झंडे को फहराने पर सख्त पाबंदी लगा रखी थी लेकिन बदले गए नियमों के तहत अब राष्ट्रीय ध्वजा को मशीनों से तैयार किया जाएगा और उन्हें पॉलिस्टर ऑन रेशमी और कपास जैसे कपड़ों से बनाया जाएगा और इन्हें भी फहराने की अनुमति दे दी जाएगी बता दें कि नए नियमों के चलते अब हाथ से बुने गए झंडे भी तैयार करे जा सकते हैं और उन्हें भी उसी शानो शौकत से फहराया जा सकता है जिस तरह से ऊंची ऊंची इमारतों पर लगे तिरंगे को फहराया जाता है।

बता दे कि नए नियमों के चलते अब सूर्यास्त के बाद भी झंडा फहराने की अनुमति दे दी जाएगी और रात के समय में झंडा फहराने पर कोई पाबंदी नहीं लगाई जाएगी । साथ ही इन नियमों के अंदर यह भी स्पष्ट कर दिया गया है कि देश के तिरंगे झंडे के ऊपर कुछ भी लिखना शोभा जनक नहीं माना जाएगा तथा गैरकानूनी कामों के अंदर इसकी गिनती करी जाएगी इसके साथ साथ हवाई प्लेन ओ वह जहाजों में भी कोई व्यक्ति स्वयं की मर्जी से राष्ट्रीय झंडे को नहीं लगा सकता है किसी भी सामान या वस्तु को ऊपर से ढकने के लिए तिरंगे का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा , पिछले नियमों का भी पालन करा जाएगा जिसके मुताबिक राष्ट्रीय ध्वज को जमीन पर लगाना मान्य नहीं है और इसे किसी दूसरे झंडे से ऊंचा फहराना भी उचित नहीं है इसके साथ-साथ राष्ट्रीय ध्वज को किसी भी तरह की साज सजावट में उपयोग नहीं करा जा सकता और इसके निर्माण को हमेशा आयात कार ही बनाना अनिवार्य रहेगा।

ये भी पढ़ें   अब्दु रोजिक ने झेला है काम उम्र में ऐसा दर्द जिसे जानकार छलक जाएंगे आपके आंसू