इस तरह से 24 घंटे मिलेगी बिजली, 25 साल तक जीरो रहेगा बिल…फटाफट उठाएं योजना का लाभ

solar panel

डेस्क : प्रतिदिन 6 से 8 यूनिट बिजली के लिए आप अपने घर की छत पर 2 kW का सोलर पैनल लगा सकते हैं। यह आपको चार सोलर पैनल देता है। आपको इसे मिलाना है। सरकार रूफटॉप सोलर पैनल पर 40 फीसदी तक सब्सिडी देती है। इससे आपका खर्चा कम होगा।

इस साल गर्मी और बिजली कटौती से लोगों की परेशानी और बढ़ गई। चिलचिलाती गर्मी के बीच लंबे समय तक बिजली गुल रहने से मुझे परेशानी हुई। वहीं गर्मी से राहत के लिए एसी जोर-शोर से चलने से बिजली के बिलों की जेब ढीली हो गई। अब बरसात का मौसम है ऐसे में बरसात के मौसम में अक्सर बिजली कटौती हो जाती है। ऐसे कठिन समय में आप ग्रीन एनर्जी की मदद से बिजली की कटौती और महंगे बिलों से छुटकारा पा सकते हैं। इसके लिए आपको अपने घर की छत पर सोलर पैनल लगाना होगा। इसके लिए आपको सरकार की ओर से भी मदद मिलेगी।

सरकार की मदद से कम होंगे खर्चे : आप अपने घर की छत पर सोलर पैनल लगाकर अपनी जरूरत की बिजली आसानी से पैदा कर सकते हैं। सोलर पैनल लगाने की लागत को कम करने के लिए सरकार की ओर से सब्सिडी भी मिलेगी। सोलर पैनल लगाने में कितना खर्च आएगा और सरकार से कितनी सब्सिडी मिलेगी? आइए इसका पूरा हिसाब-किताब समझते हैं।

पहले यह करें : अपने घर की छत पर सोलर पैनल लगाने से पहले यह पता कर लें कि आपको कितनी बिजली की जरूरत है। आपके घर में ऐसे कौन से उपकरण हैं जो बिजली से चलते हैं? यदि आपके पास 2-3 पंखे, एक रेफ्रिजरेटर, 6-8 एलईडी लाइट, 1 पानी की मोटर और टीवी जैसे उपकरण हैं, तो आपको हर दिन 6 से 8 यूनिट बिजली की आवश्यकता होगी।

ये भी पढ़ें   दिल्ली से शिमला के लिए शुरू हुई सीधी फ्लाइट सेवा- टिकट का दाम है LUXURY BUS के बराबर

प्रतिदिन 6 से 8 यूनिट बिजली के लिए आप अपने घर की छत पर 2 kW का सोलर पैनल लगा सकते हैं। यह आपको चार सोलर पैनल देता है। आपको इसे मिलाना है। मोनोपार्क बिफेशियल सोलर पैनल इस समय नई तकनीक वाले सोलर पैनल हैं। यह आगे और पीछे दोनों तरफ से बिजली पैदा करता है। इस तरह आपको हर दिन जरूरत की बिजली मिलती है।

इसे कहां लगाएं : भारत में सौर ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिए नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय सोलर रूफटॉप योजना चला रहा है। DISCOM के पैनल से जुड़े किसी भी वेंडर से कोई भी अपने घर की छत पर सोलर पैनल लगा सकता है। इसके बाद आप सब्सिडी के लिए आवेदन कर सकते हैं। यदि आप इसे DISCOM से संबद्ध विक्रेता से स्थापित करते हैं, तो वे पांच साल के लिए रूफटॉप सोलर के रखरखाव के लिए भी जिम्मेदार हैं।

कितनी सब्सिडी

सरकार रूफटॉप सोलर पैनल पर 40 फीसदी तक सब्सिडी देती है। अगर आप 3 किलोवाट तक सोलर रूफ पैनल लगाते हैं, तो सरकार आपको 40 फीसदी तक सब्सिडी देगी। अगर आप 10 kW तक के सोलर पैनल लगाते हैं, तो आपको 20 प्रतिशत की सब्सिडी मिलती है। राज्यों में स्थानीय बिजली वितरण कंपनियां (DISCOMs) इस योजना को चला रही हैं।

इसका मूल्य कितना होगा?

मान लीजिए आप अपने घर की छत पर 2 kW का सोलर पैनल लगा रहे हैं, तो इसकी लागत लगभग 1.20 लाख रुपये होगी। लेकिन इसमें सरकार की ओर से 40 फीसदी की सब्सिडी मिलेगी. ऐसे में आपकी लागत 72,000 रुपये होगी और आपको सरकार की ओर से 48,000 रुपये की सब्सिडी मिलेगी। सोलर पैनल की लाइफ 25 साल होती है। ऐसे में आप एक बार में इतना निवेश करके लंबी अवधि में महंगी बिजली से छुटकारा पा सकते हैं।

ये भी पढ़ें   Tour Package : अब IRCTC कराएगी थाईलैंड का टूर, जानें - कितना होगा किराया

आवेदन कैसे करें

सोलर रूफ लगाने के लिए आपको इसकी आधिकारिक वेबसाइट https://solarooftop.gov.in/ पर जाना होगा। इसके बाद आपको अप्लाई फॉर सोलर रूफटॉप पर क्लिक करना होगा। आपको एक और नए पेज के साथ प्रस्तुत किया जाएगा, यहां आप राज्य द्वारा लिंक का चयन करें। इसके बाद फॉर्म खुल जाएगा। अपने सभी विवरण भरें। सौर पैनलों की स्थापना के 30 दिनों के भीतर DISCOM द्वारा प्रदान किए गए आपके खाते में सब्सिडी राशि जमा कर दी जाएगी।