2 February 2023

कुत्ते के काटने पर करें इन 6 स्टेप्स को फॉलो -बचेगा सारा पैसा और जान

dogs

डेस्क : हाल ही में कुत्तों द्वारा लोगों पर हमला करने की कई घटनाएं सामने आई हैं। गाजियाबाद के एक पार्क में खेलते समय एक बच्चे पर पिटबुल ने हमला कर दिया और उसे करीब 150 टांके लगे। हाल ही में, दिल्ली के पसीम हे बिहार जिले में कुत्तों के भौंकने को लेकर हुए विवाद में पड़ोसियों ने उन पर लोहे के पाइप से हमला कर दिया था, जिसमें तीन लोग घायल हो गए थे। उसका दहिया नाम का धर्मवीर सड़क पर चल रहा था और एक कुत्ता उस पर भौंकने लगा।

अचानक दहिया ने कुत्ते को पूंछ से पकड़कर दूर फेंक दिया। तभी कुत्ते ने उसे काट लिया। इसके बाद उसने कुत्ते को लोहे की रॉड से पीटा। पशु चिकित्सक डॉ. विनोद शर्मा कहते हैं, “कुत्ते के काटने से इंसानों में सेप्सिस, रेबीज और यहां तक ​​कि मौत भी हो सकती है।” शर्मा: “भारत में, सबसे बड़ी समस्या जागरूकता की कमी है। इसीलिए इतने सारे लोग रेबीज से मर जाते हैं। आवारा कुत्तों का टीकाकरण नहीं किया जाता है और उनके इलाज के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले टीके अच्छी तरह से प्राप्त नहीं होते हैं।

यह काम करो : जब एक कुत्ता काटता है, तो यह जटिलताएं पैदा करता है क्योंकि ज्यादातर लोग इसे साफ नहीं करते हैं। काटे गए स्थान को साबुन और बहते पानी से जितना हो सके साफ करें। तुरंत चिकित्सा सहायता प्राप्त करें। सफाई के बाद आप बीटाडीन या लिक्विड प्रिजर्वेटिव भी लगा सकते हैं। राज्य के अस्पताल में काटने के दिन 3, 7, 14 और 28 को कुल 5 मुफ्त रेबीज इंजेक्शन दिए गए। घाव पर पट्टी न बांधें। अपने डॉक्टर को तय करने दें कि क्या करना है। डॉक्टर से सलाह लेने के बाद ही आगे के उपाय किए जाने चाहिए।

घाव भरने की प्रक्रिया : विशेषज्ञ मानते हैं कि यह इस बात पर भी निर्भर करता है कि कुत्ता कहां काटता है। जब कंधों की बात आती है, तो उपचार के तरीके अलग होते हैं। कंधों के नीचे, उपचार प्रक्रिया बदल जाती है। घरेलू कुत्तों को आमतौर पर टीका लगाया जाता है, लेकिन आवारा कुत्तों को टीका नहीं लगाया जाता है और उनके काटने से उन्हें रेबीज होने का खतरा होता है।