9 February 2023

भारत की पटरियों पर जल्द दौड़ेगी हाइड्रन इंजिन वाली ट्रेन, जानिए कब से?

train

भारतीय रेलवे यात्रियों की यात्रा को सुविधाजनक बनाने के लिए आये दिन नयी-नयी तैयारियां करता रहता है। वन्दे भारत एक्सप्रेस ट्रेन के बाद भारत सरकार देश में जल्द ही हाइड्रोजन इंजन वाली ट्रेन और वंदे मेट्रो लेकर आने वाली है। हाइड्रोजन इंजन वाली ट्रेन फ़िलहाल सिर्फ जर्मनी और ब्रिटेन में ही चल रही हैं। रेलवे की ओर से हाइड्रोजन इंजन की डेडलाइन भी तय कर दी गई है। वहीं मई-जून तक वंदे मेट्रो ट्रेन का डिजाइन तैयार कर लिया जाएगा।


जीरो प्रदूषण के साथ काम करेगा हाइड्रोजन इंजन : हाइड्रोजन से चलने वाले इंजन को हाइड्रेल कहते हैं। दूसरे शब्दों में इसे इको फ्रेंडली इंजन भी कह सकते है क्योंकि इससे जीरो प्रतिशत प्रदूषण होता है। इस इंजन में हाइड्रोजन को सीधे तौर ईंधन की तरह इस्तेमाल नहीं किया जा सकता। इसमें हाइड्रोजन के साथ ऑक्सीजन मिलाकर बिजली बनाई जाती है और इस बिजली से बैटरी चार्ज (फ्यूल सेल ) होती है जो ट्रेन को चलाती है।


धुंए की जगह निकले भाप और पानी : जर्मनी में हाइड्रोजन ट्रेन इंजन बनाने वाली कंपनी एलस्टॉम के मुताबिक इस प्रक्रिया से ट्रेन में संचालन में बिल्कुल भी शोर नहीं होता। यह पूरी तरह से इलेक्ट्रिक वाहन की तरह काम करती है। खासकर यह ट्रेन उन स्थानों पर चलाई जा सकती है, जिन ट्रेन रूट पर रेलवे अभी तक डीजल इंजनों का प्रयोग कर रहा है। ईंधन के रूप में हाइड्रोजन डीजल से सस्ता भी होगा और पर्यावरण के लिए भी सुरक्षित। इन ट्रेनों से धुएं की जगह सिर्फ भाप और पानी ही निकलता है।


भारत में कब चलेंगी हाइड्रोजन Train : खास बात है कि भारत विश्व का ऐसा तीसरा देश बन जाएगा जहां हाइड्रोजन से चलने वाली ट्रेन पटरियों पर दौड़ेगी।अभी तक सिर्फ जर्मनी और ब्रिटेन में ही हाइड्रोजन से चलने वाली ट्रेन मौजूद हैं। रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा है कि दिसंबर 2023 तक भारत में निर्मित हाइड्रोजन ट्रेन दौड़ाने में देश सक्षम होगा।


वन्दे भारत ट्रेन के बाद आएगी वन्दे मेट्रो : वन्दे मेट्रो वन्दे भारत एक्सप्रेस ट्रेन का नेक्स्ट वर्जन होगी। इसके डिजाइन को लेकर रेलवे ने अभी कुछ साफ़ नहीं किया लेकिन, इसमें सुविधाएं वन्दे भारत एक्सप्रेस ट्रेन जैसी ही होंगी।
कुछ ऐसी होंगी वन्दे मेट्रो में सुविधाएं
–वंदे मेट्रो में इंटेलीजेंट ब्रेकिंग सिस्टम होगा, जो आपात समय में ट्रेन को कंट्रोल करने में सक्षम होगा।
– ट्रेन में स्क्रीन्स भी होंगी जो किसी भी स्टेशन के आने से पहले उसकी जानकारी दे देंगी और ये भी भी बताएंगी कि अगला स्टेशन कितनी दूर है।
– वंदे मेट्रो में इंटेलीजेंट ब्रेकिंग सिस्टम होगा, जो आपात समय में ट्रेन को कंट्रोल करने में सक्षम होगा।
– ट्रेन में ऑटोमैटिक गेट होंगे. यह ट्रेन पूरी तरह से लॉक होगी, यानी कि अंदर तक डस्ट नहीं पहुंचेगी।
– ट्रेन में सीसीटीवी कैमरे भी होंगे. इसके अलावा ऑटोमेटिक फायर सेंसर्स और जीपीएस भी होगा।