कोरोनाकाल में हनुमान बन उतरा वायु सेना,ऑक्सीजन सिलेंडर और दवाई लाने में जुटी इंडियन एयर फोर्स

Indian Air Force COvid

डेस्क : देश में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए मंगलवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सभी रक्षा प्रतिष्ठानों को अपने अधिकारों का इस्तेमाल करते हुए ज्यादा से ज्यादा कोरोना अस्पतालों की स्थापना करने का निर्देश दिया था। उन्होंने इस काम में सेवानिवृत्त कर्मियों की मदद लेने को भी कहा था। आपको बता दें की दिल्ली में ऑक्सीजन और दवाओं की शीघ्र आपूर्ति के लिए केंद्र सरकार ने वायुसेना की मदद मांगी थी।

वायुसेना डाक्टर, नर्स और अन्य स्वास्थ्य कर्मियों को लाने का काम भी कर रही है। सूत्रों ने बताया कि दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में कोरोना की दूसरी लहर में लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) दिल्ली में कोरोना मरीजों के लिए अस्पताल स्थापित कर रहा है। इसके लिए कोच्चि, मुंबई और बेंगलुरु जैसे शहरों से डाक्टरों और स्वास्थ्य कर्मचारियों को लाया जा रहा है। इस अस्पताल के लिए वायुसेना बेंगलुरु से डीआरडीओ के आक्सीजन कंटेनर भी लेकर आई है।

इन शहरों में डीआरडीओ अस्पताल की स्थापना होगी डीआरडीओ की ओर से बताया गया कि उसने दिल्ली में 250 बेड के अस्पताल की स्थापना की है। जरूरत पड़ने पर इसकी क्षमता 500 बेड और फिर 1,000 बेड तक बढ़ाई जा सकेगी। राजनाथ सिंह इससे पहले डीआरडीओ को लखनऊ, पटना, वाराणसी और अहमदाबाद में अस्पताल स्थापित करने का निर्देश दे चुके हैं। राजनाथ सिंह ने कहा कि पटना के ईएसआइसी अस्पताल को कोरोना अस्पताल में तब्दील कर दिया गया है। यहां 500 बेड का इंतजाम करने के साथ गंभीर मरीजों का उपचार शुरू कर दिया गया है। साथ ही अस्पताल स्थापित करने का काम युद्ध स्तर पर चल रहा है।

You may have missed

You cannot copy content of this page