December 10, 2022

सरकार की योजना रोज भर रही है 80 करोड़ लोगों का पेट, लाभ लेने वालों को मिलेगी ये सहूलियत

80 CRORE LABHAARTEE

डेस्क : PMGKAY प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना (PMGKAY) को केंद्र सरकार द्वारा कोरोनावायरस महामारी के दौरान शुरू किया गया था। देश में 80 करोड़ से अधिक लोग इस योजना का लाभ उठा रहे हैं। योजना को 31 दिसंबर तक बढ़ा दिया गया है

केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना (PMGKAY) को दिसंबर तक बढ़ा दिया है। सरकार के इस फैसले के बाद देश के 80 करोड़ गरीब लोगों को मुफ्त राशन योजना का लाभ मिलेगा। आइए जानते हैं प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना और किसे मिलता है लाभ।

इस योजना का लाभ राज्य सरकारों और केंद्र शासित प्रदेशों की सरकारों द्वारा राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम (NFSA) के तहत चिन्हित लाभार्थियों को दिया जा रहा है। कोई भी लाभार्थी अपने मौजूदा राशन कार्ड का उपयोग करके इस योजना का लाभ उठा सकता है। पीएमजीके कब शुरू किया गया था?

PMGKY योजना मार्च 2020 में कोरोनावायरस महामारी के दौरान गरीबों की मदद के लिए शुरू की गई थी। इस योजना के तहत सरकार हर महीने प्रत्येक व्यक्ति को 5 किलो खाद्यान्न उपलब्ध कराती है। इस योजना ने तालाबंदी के दौरान देश के लाखों गरीब लोगों को राहत प्रदान की है।

योजना व्यय: केंद्र सरकार ने कहा कि योजना को दिसंबर 2022 तक बढ़ाने से 44,762 करोड़ रुपये अतिरिक्त खर्च होंगे। इस योजना पर अब तक 3.46 लाख करोड़ रुपये खर्च हो चुके हैं। सरकार ने योजना के छठे चरण तक कुल 1 अरब टन खाद्यान्न का आवंटन भी किया है।

PMGKA का विस्तार कब किया गया: यह योजना शुरू में सरकार द्वारा पहले चरण में अप्रैल-जून 2020 के लिए ही शुरू की गई थी। दूसरे चरण में, सरकार ने जुलाई-नवंबर तक अपना कार्यकाल बढ़ाया, इस योजना को अप्रैल 2021 में कोरोनावायरस के प्रकोप के कारण फिर से शुरू किया गया था। तीसरे चरण में इसे मई-जून के लिए लागू किया गया, फिर सरकार ने इसे आगे बढ़ाया और चौथे चरण में जुलाई-नवंबर के लिए इसे लागू किया। पांचवें चरण में, योजना की अवधि फिर से दिसंबर से मार्च तक बढ़ा दी गई। , 26 मार्च को, केंद्र सरकार ने इसे सितंबर तक बढ़ा दिया सरकार ने तब से इस योजना को फिर से 31 दिसंबर तक बढ़ा दिया है,

ये भी पढ़ें   Indian Railway : कंफर्म ट‍िकट के बाद भी नहीं म‍िली सीट? आपके साथ भी हो सकता है धोखा..