December 1, 2022

चले गए पेट्रोल और डीजल के दिन , अब लॉन्च हो गई ये नई गाड़ी

Flex fuel

आज यानी 11 अक्टूबर को पेट्रोल-डीजल की कीमतों से परेशान लोगों को एक अच्छी खबर मिलने वाली है. क्योंकि वह दिन आ गया है जब सरकार पेट्रोल और डीजल पर लोगों की निर्भरता को कम करने के लिए पहला कदम उठाने जा रही है। जी हां, देश में बिना पेट्रोल और डीजल के पहली कार लॉन्च होने जा रही है। (Toyota) कार को खुद परिवहन मंत्री नितिन गडकरी लॉन्च करने जा रहे हैं। इस बात की जानकारी नितिन गडकरी पहले भी कई कार्यक्रमों में दे चुके हैं। देश की पहली फ्यूल फ्लेक्स कार के लॉन्च के साथ, एक और पेट्रोल-डीजल गेम के अंत की ओर पहला कदम, प्रदूषण के स्तर में नाटकीय रूप से सुधार होगा।

आपको बता दें कि टोयोटा एक जापानी कंपनी है, जो फ्लेक्सी फ्यूल स्ट्रॉन्ग हाइब्रिड इलेक्ट्रिक व्हीकल (FFV-SHEV) प्रोजेक्ट पर काम कर रही है। आज यानी 11 अक्टूबर को लॉन्च होने वाली ये कार देश की पहली फ्यूल फ्लेक्स कार होगी. कार कौन सी होगी इसकी घोषणा अभी नहीं की गई है। लेकिन कहा जा रहा है कि यह कोरोला या कैमरी की पहली कार है। सफल लॉन्च से देश में फ्यूल फ्लेक्स कार कारोबार को बढ़ावा मिलेगा। जानकारों के मुताबिक इस कार को चलाने में पेट्रोल-डीजल से भी आधा खर्च आएगा. ऑटोमोटिव कंपोनेंट मैन्युफैक्चरर्स एसोसिएशन (ACMA) के 62वें वार्षिक सम्मेलन में नितिन गडकरी ने देश की जनता के साथ यह जानकारी साझा की.

आखिर क्या है फ्लेक्स-फ्यूल: विशेषज्ञ के अनुसार “फ्लेक्स-ईंधन गैसोलीन और मेथनॉल या इथेनॉल के संयोजन से बना एक वैकल्पिक ईंधन है” मूल रूप से इसे एक फ्लेक्स-मानक पेट्रोल इंजन भी कहा जा सकता है, इसमें कुछ अतिरिक्त घटक होते हैं जो एक से अधिक मिश्रणों पर चलते हैं। फ्यूल फ्लेक्स इंजन की लागत भी प्रति किमी कम होगी। इससे प्रदूषण का स्तर भी कम होगा। केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री कई कार्यक्रमों में इसका ऐलान कर चुके हैं. आंकड़ों के मुताबिक, यह ईंधन आपकी कार को आधे से भी कम दर पर चलाने की संभावना है। हालांकि, ज्यादा जानकारी लॉन्चिंग के बाद ही मिलेगी। फ्यूल फ्लेक्स इंजन कितने सफल हैं?

ये भी पढ़ें   'भारत जोड़ो यात्रा' में लगे पाकिस्तान के नारे? पुलिस ने ले लिया बड़ा एक्शन..