1 जनवरी, 2023 तक दिल्ली में पटाखों पर प्रतिबंध, बिक्री पर पड़ेगा बड़ा असर

Arvind Kejriwal

डेस्क : दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति ने दिल्ली में पटाखों पर पूर्ण प्रतिबंध को तत्काल प्रभाव से एक जनवरी तक बढ़ा दिया है। दिल्ली सरकार ने एक हफ्ते पहले इसकी घोषणा की थी।दिल्ली की सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) सरकार ने सर्दी के मौसम में होने वाले वायु प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए पटाखों पर तत्काल प्रभाव से पूर्ण प्रतिबंध लगाने की घोषणा की है।

नियम तोड़ने वालों पर होगी कड़ी कार्रवाई: दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति (DPCC) ने राजधानी दिल्ली में 1 जनवरी तक सभी तरह के पटाखों के उत्पादन, बिक्री और इस्तेमाल पर पूरी तरह से रोक लगाने का आदेश दिया है. जेल हो सकता है। दिल्ली सरकार ने एक हफ्ते पहले किया था ऐलान: इस संबंध में दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने एक सप्ताह पहले प्रतिबंध लगाने की घोषणा की थी। एक अधिकारी ने कहा, “प्रतिबंध तत्काल प्रभाव से लागू हो गया है।” दिल्ली में आम आदमी पार्टी (आप) सरकार पिछले दो साल से सर्दियों में पटाखों पर प्रतिबंध लगाने की प्रथा का पालन कर रही है।

पटाखों की ऑनलाइन बिक्री पर भी रहेगी रोक: इस साल की शुरुआत में प्रतिबंध की घोषणा से दिल्ली प्रशासन और पुलिस को पटाखों के अवैध निर्माण, बिक्री और उपयोग को रोकने के लिए एक तंत्र स्थापित करने के लिए पर्याप्त समय मिलने की संभावना है। डीपीसीसी के आदेश में कहा गया है कि यह प्रतिबंध पटाखों की ऑनलाइन बिक्री पर भी लागू होता है।

पिछले साल भी लगा था प्रतिबंध: ज्ञात हो कि पिछले साल भी दिल्ली सरकार ने 1 जनवरी, 2022 तक पटाखों पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने की घोषणा की थी। इसके साथ ही पटाखों की बिक्री और उपयोग के खिलाफ 15 विशेष टीमों को शामिल करते हुए जिला स्तर पर एक आक्रामक अभियान चलाया गया था। दरअसल, दिल्ली-एनसीआर में अक्टूबर से वायु प्रदूषण बढ़ने लगता है। यह तब फरवरी-मार्च तक चलता है।

ये भी पढ़ें   BJP नेता रवि किशन के साथ बड़ा फ्रॉड - व्यापारी ने की 3.25 करोड़ की ठगी, जानें - पूरा मामला..