गंगा में बहते शवों को देखकर भड़के फरहान और परिणीति, ऐसा करने वालों का बताया….

Farahan Aktar

बिहार और उत्तर प्रदेश सीमा से सटे बक्सर में इन दिनों गंगा नदी में सैकड़ों तैरती शव मिलने से पूरे देश में हड़कंप मचा हुआ है। यह मामला दिनो दिन तूल पकड़ता दिख रहा है। जब बिहार सरकार का इस मामले पर कोई प्रतिक्रिया नहीं आया तो अब पटना हाईकोर्ट के अलावा केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने इस मामले को अपने संज्ञान लेकर जांच में जुट गया। वहीं गंगा में लगातार मिल रहे मानव शवों को लेकर बॉलीवुड सितारों ने भी हैरानी मे है। साथ ही वो इसके लिए सरकार को जिम्मेदार ठहराया है।

बुधवार को बॉलीवुड के मशहूर गायक और अभिनेता फरहान अख्तर ने गंगा में मिल रहे शवों को लेकर अपनी प्रतिक्रिया दी। उन्होंने इस घटना के लिए व्यवस्था को जिम्मेदार ठहराया है। फरहान अख्तर ने ट्विटर पर अपनी बात रखते हुए कहा है कि इसके लिए खराब सिस्टम जिम्मेदार है। अभिनेता ने अपने ट्वीट में लिखा “नदियों में बह कर शवों के आने और किनारे पर लगने की खबरें लगातार सामने आ रही हैं और यह निश्चित रूप से दिल तोड़ देने वाली है। एक न एक दिन वायरस जरूर हारेगा। लेकिन इस तरह की खामियों के लिए सिस्टम में जवाबदेही तय होनी ही चाहिए। जब तक यह नहीं होता है, तब तक महामारी का चैप्टर खत्म नहीं होगा।

वहीं बॉलीवुड अभिनेत्री परिणीति चोपड़ा ने भी गंगा में मिल रहे लोगों के शवों को लेकर दुख जताया है। और उन्होंने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर लिखा “इस महामारी ने इंसान‍ियत का सबसे खराब चेहरा सामने लाकर रख दिया है। वह जो लाशें तैर रही हैं, वह कभी जिंदा थे, वह किसी की मां, बेटी, प‍िता या बेटा थे। अगर आपका शव नदी किनारे मिलती या आप अपनी मां का शव नदी पर तैरता देखते तो कैसा लगता? सोच भी नहीं सकते..हैवान”

वहीं आगे अभिनेत्री उर्मिला मातोंडकर ने भी इस घटना को लेकर प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा “संदिग्ध कोविड के 100 से अधिक शवों को गंगा में बहा दिया गया। दुखद.. ब्रत। विश्वास से परे..।” इनके अलावा बॉलीवुड के और भी कई सितारों ने गंगा में मिल रहे शवों को लेकर अपनी प्रतिक्रिया दी है।

आपको बता दें कि बिहार राज्य के बक्सर से लगे यूपी के बलिया, गाजीपुर, हमीरपुर में गंगा के किनारे अधिकारियों के अनुसार अभी तक करीब 70 मिले ‌है। और अन्य शवों के मिलने का सिलसिला जारी है। एक साथ बड़ी तादाद में शवों को देखे जाने के बाद स्‍थानीय प्रशासन ने जेसीबी से गड्ढे खुदवाकर सभी शवों को दफना दिया था। इससे पहले कई शवों का कोविड टेस्‍ट करने के लिए सैंपल लिया गया। बक्‍सर जिले के स्‍वास्‍थ्‍य विभाग ने कई शवों का प्रशासन के अनुरोध पर पोस्‍टमॉर्टम भी करवाया था। 

You cannot copy content of this page