31 January 2023

यात्रीगण ध्यान दें! Train की सीट पर ये काम करने पर होगा नियमों का उल्लंघन, हो सकती है कार्रवाई..

Train Ki Seat

डेस्क: भारतीय रेलवे दुनिया का सबसे बड़ा रेल नेटवर्क है। इसे संचालन करने के लिए कई सारे नियम बनाए गए हैं, जिससे व्यवस्थित रूप से चलाया जा सके। ट्रेन के माध्यम से लोग ज्यादा यात्रा करते हैं। ऐसे में यात्रियों के लिए कई नियमों को जान लेना आवश्यक है। हम बात कर रहे हैं ट्रेन के सीट से जुड़े नियमों के बारे में। जी हां ट्रेन में बर्थ के लिए भी कई सारे नियम बनाए गए हैं, जिसे पालन करना एक यात्री के लिए जरूरी है। यदि कोई यात्री पालन नहीं करता है तो उसे जुर्माना भरना पड़ सकता है विस्तार से जानते हैं।

ये है बर्थ से जुड़ा नियम

रेलवे बोर्ड के अनुसार यात्री रात 10 बजे से सुबह 6 बजे के बीच ही आरक्षित डिब्बों में सो सकते हैं, ताकि बाकी यात्रा के दौरान अन्य लोग सीटों का इस्तेमाल कर सकें. वहीं, सोने का समय एक घंटा कम कर दिया गया। वहीं बीच वाली बर्थ के यात्री उठने से मना कर देते हैं तो समस्या खड़ी हो जाती है। ऐसे में नीचे की बर्थ के लोगों को आराम से बैठने को नहीं मिलता है। ऐसे में मिडिल बर्थ को दिन में नहीं खोला जा सकता है।

इसके अलावा ट्रेन में तेज आवाज में म्यूजिक सुनने और फोन पर बात करने पर भी यह नियम लागू होता है। भारतीय रेलवे को इससे पहले नींद के दौरान फोन पर जोर से बात करने और बिना ईयरफोन के गाने सुनने की कई शिकायतें मिली थीं। जिसके बाद यह नियम लागू किया गया। इसके अलावा टीटीई, कैटरिंग स्टाफ और अन्य रेल कर्मियों को ट्रेनों में सार्वजनिक मर्यादा बनाए रखने के निर्देश दिए गए हैं।