रोज़गार नहीं मिलने पर स्वरोजगार को अपना कर बन बैठा CTET पास ई रिक्शा वाला

e rickshaw

डेस्क : बिहार के बेगूसराय जिले में पढ़ लिख कर नौकरी नहीं मिलने पर स्वरोजगार को अपनाने वाला एक युवा लोगों की प्रेरणा का स्रोत बना हुआ है। मोहम्मद जहांगीर नाम के युवक ने CTET की परीक्षा पास करनी है जिसकी डिग्री को तमगे के रूप में लटका कर ई रिक्शा चलाता है।

मो. जहांगीर CTET की परीक्षा पास रिक्शावाला के नाम से मशहूर हैं और न केवल अच्छी कमाई कर रहे हैं बल्कि लोग उनकी इज्जत भी करते हैं। शिक्षक की नौकरी पाकर भी इतनी पॉपुलरिटी हासिल नहीं कर पाते, जितने वह अपने इलाके में फेमस है। रिक्शावाला जहां से भी गुजरता है लोग उसे सम्मान देते हैं। उसके रिक्शे में बैठकर लोग गौरवान्वित महसूस करते हैं।

भगवानपुर थाना क्षेत्र के चंदौर के रहने वाले मोहम्मद समसुल के पुत्र मोहम्मद जहांगीर अपने इलाके में किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं।CTET डिग्री हासिल करने वाले जहांगीर बीते दो महीनों से ही रिक्शा चलाकर अपना और अपने परिवार का भरण पोषण कर रहे हैं। शुरू में या काम उनके लिए बेहद हास्यास्पद था, लेकिन वक्त के साथ सब सामान्य हो गया।

उन्होंने बताया कि बड़ी ही मेहनत से उन्होंने अपनी पढ़ाई पूरी की और CTET की परीक्षा भी उत्तीर्ण की। मुझे लगा था कि बेहद जल्दी व शिक्षक बनकर सब समाज का एक हिस्सा बनेंगे। नौकरी ना मिलने से नाराज जहांगीर ने लोन लेकर एक की रिक्शा लिया और उसे अपने ही इलाके भगवानपुर में चलेते हैं जिससे उनका परिवार अच्छे से चलता है। जहांगीर को जानने वाले बताते हैं कि बचपन से वह पढ़ने दे मेधावी छात्र रहे हैं। उन्होंने CTET की परीक्षा भी पास की लेकिन सिस्टम का मारा जहांगीर को नौकरी नहीं मिल पाए जिसकी वजह से उन्होंने ई रिक्शा चलाने का काम शुरू किया।

ये भी पढ़ें   राजधानी दिल्ली में मास्क न लगाने पर हो रहा है सीधा 500 रुपए का चालान- हर कदम पर रखें ध्यान