झारखंड के प्राइवेट अस्पतालों के मनमाने रेट पर भड़के CM हेमंत सोरन – जारी किया हेल्पलाइन नंबर

Hemant soren

डेस्क : कोरोना के बढ़ते मामलों से झारखंड सरकार परेशान है। लोग अस्पताल के चक्कर काट रहे हैं। कई मरीजों के परिजनों की शिकायत है की उनको सही दाम पर बेड और अन्य सामग्री नहीं मिल रही है। जिसके चलते कई लोग अस्पताल में शिकायत करते नजर आ रहे हैं। झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने मरीजों की शिकायत सुनने के लिए 104 नंबर जारी किया है।

किसी भी कोरोना के मरीज को अगर परेशानी आती है तो वह 104 पर कॉल करके शिकायत दर्ज करा सकते हैं। ऐसे में जिस अस्पताल संचालक के खिलाफ शिकायत दर्ज होगी उसके ऊपर आपदा अधिनियम सहित अन्य धाराओं के तहत मामला चलेगा। बता दें कि झारखंड में जो राशि तय की गई है वह इस प्रकार है।

ऑक्सीजन सपोर्टेड बेड 8000 रूपए, नॉन ऑक्सीजन सपोर्टेड बेड 7500 रूपए, बिना वेंटीलेटर के आईसीयू 10000 रूपए और नॉन वेंटीलेटर आईसीयू बेड 9000 रूपए। यह राशि धनबाद, सिंहभूम और बोकारो के सभी अस्पतालों में लागू होगी। वहीं दूसरी ओर सरायकेला, देवघर, पलाम, रामगढ़, हजारीबाग में ऑक्सीजन सपोर्टेड बेड 7000 रूपए और बिना ऑक्सीजन सपोर्टेड बेड 6500 रूपए।

अगर बताई गई राशि से ऊपर कोई भी अस्पताल लोगों से पैसा लेता है तो लोग 104 पर कॉल करके बिना किसी हिचक के शिकायत कर सकते हैं। इसके तहत अस्पताल के ऊपर सख्त कार्यवाही होगी और अपराधिक मुकदमा चलाया जाएगा। झारखंड सरकार ने लोगों के इलाज करने के लिए दो श्रेणी में बांटा है पहला एनबीएच जिसको मान्यता प्राप्त है और दूसरा एनबीएच जिस को मान्यता नहीं प्राप्त है।

You may have missed

You cannot copy content of this page