अभिनेता Sonu Sood के नाम पर ठगी – खुद को एक्टर का मैनेजर बताकर लुटे पैसे, जानें – पूरा मामला…

Sonu Sood

डेस्क : आज के समय में अभिनेता सोनू सूद Sonu Sood को कौन नहीं जानता है आज वह सभी के लिए एक रोल मॉडल बन चुके हैं करोना काल हो या बाढ़ में फंसे लोग वह कभी भी किसी की मदद करने से पीछे नहीं हटते हैं लेकिन नालंदा में एक केस सामने आया है जिसमें लोगों ने सोनू सूद के नाम पर ठगी की। नालंदा के एक अध्यापक ने सोनू सूद से मदद की गुहार लगाई थी ।यह शिक्षक करोना से जंग लड़ रहा था और सोनू से 45 लाख रुपए इलाज के लिए मांगे थे लेकिन इस शिक्षक को सोनू सर से यह मदद मांगना महंगी पड़ी क्योंकि मदद मांगने पर वह साइबर ठगों की नजरों में आ गया और इन लोगों ने उसका पूरा अकाउंट खाली कर दिया।

सोनू सूद से मदद मांगने का यह मामला नालंदा से आया है जहां एक शिक्षक करोना मे 1 साल से परेशान है और करोना संक्रमित होने के बाद उसका एक फेफड़ा पूरी तरह से खराब हो गया। इस शिक्षक का नाम शुभम कुमार है। 2021 में कोरोना संक्रमण के बाद निजी शिक्षक शुभम कुमार का एक फेफड़ा पूरी तरह से खराब हो गया। वह जब चेन्नई में इलाज कराने गया तो वहां के एमजीएम अस्पताल में उनके इलाज का खर्च ₹4500000 बताया गया। शिक्षक ऑक्सीजन पर जिंदा है और किराए के घर पर रहता है।

बताया जा रहा है कि शिक्षक ने अपने इलाज के मदद के लिए प्रधानमंत्री ,राष्ट्रपति ,मुख्यमंत्री सभी से गुहार लगाई परंतु किसी ने भी उनकी बात नहीं सुनी इसके बाद उन्होंने अभिनेता सोनू सूद से मदद के लिए कहा और ट्विटर पर उनसे मदद मांगी । देर रात उनके मोबाइल पर फोन आया और एक शख्स ने अपने आप को सोनू सूद का मैनेजर बताया और एक लिंक पर रजिस्ट्रेशन करने को कहा ।शिक्षक का माथा ठनका और उन्होंने अपने अकाउंट के सारे पैसे अपने भाई के अकाउंट में ट्रांसफर कर दिया और शेष ₹2000 छोड़े और लिंक पर रजिस्ट्रेशन किया। जिसके बाद सारा पैसा अकाउंट से गायब हो गया। शिक्षक की माता का कहना है कि शुभम उनके घर केएकमात्र कमाऊ सदस्य हैं जो कोचिंग चला कर अपने मां-बाप का पेट पालते हैं लेकिन अब वे 4 घंटे ऑक्सीजन के बल पर ही जिंदा रहते हैं।

ये भी पढ़ें   Indian Railway : अब Train में अब सीट के लिए नहीं होगी मारामारी - रेलवे ने बढ़ाए कोच संख्या, पढ़ें डिटेल्स..