Indian Railway : ट्रेन टिकट में बुजुर्गों को 50% छूट को लेकर बड़ा अपडेट, जानिए डिटेल में..

Train Ticket

Indian Railway : कोविड काल से पहले सीनियर सिटीजन को रेल टिकट में छूट दी जाती थी। लेकिन को भी महामारी खत्म होने के बाद भी बुजुर्गों को इसका फायदा नहीं मिल रहा है। इसी बीच रेल किराये में दी जाने वाली छूट पर बड़ा अपडेट आया है। इस संबंध में केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा है कि कोरोना से उपजी चुनौतियों के चलते 2020-21 में रेलवे का रेवेन्यू प्री कोविड एरा (2019-20) से कम था। ऐसे में छूट देने से रेलवे पर अत्यधिक भार पड़ेगा।

Train Route

ऐसे में सीनियर सिटीजन समेत पहले दी जाने वाली अन्य छूटें अभी विचारणीय नहीं हैं। मालूम हो की रेल किराये में किसी भी क्लास का टिकट लेने पर महिला बुजुर्गों को 50 प्रतिशत और पुरुष बुजुर्गों को 40 प्रतिशत की छूट दी जाती थी। इसका लाभ उठाने के लिए महिलाओं की न्यूनतम उम्र 58 और पुरुषों की न्यूनतम उम्र 60 वर्ष होनी चाहिए थी। वही, इसको लेकर कई नेता और सांसद रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव से अनुरोध किया है कि ट्रेन के टिकट के किराये में वरिष्ठ नागरिक को दी जाने वाली रियायत बहाल की जाए, जो कोविड-19 वैश्विक महामारी फैलने के बाद से निलंबित है।

वह पत्र के माध्यम से उन्होंने कहा कि वरिष्ठजन को दी जाने वाली छूट वापस लेने के रेलवे के फैसले के कारण देशभर में करोड़ों बुजुर्ग प्रभावित हुए हैं। यह फैसला कोरोना काल के मद्देनजर लिया गया था, लेकिन महामारी का प्रकोप कम होने के बाद बुजुर्गों की तरफ से बार-बार मांग किए जाने के बावजूद इस निर्णय की समीक्षा नहीं की गई है। उन्होंने कहा कि दुर्भाग्य से इन रियायतों को स्थायी रूप से हटाने के लिए कोविड-19 वैश्विक महामारी का इस्तेमाल किया गया, जिससे भारत के लोगों को बहुत नुकसान हुआ। मार्च 2020 से मार्च 2022 तक सात करोड़ से अधिक वरिष्ठ नागरिकों ने रेलवे का इस्तेमाल किया और इससे छूट समाप्त किए जाने का प्रभाव स्पष्ट होता है।

ये भी पढ़ें   Oyo Rooms में रुकना हुआ महँगा - NDMC ने लिया बड़ा फैसला जानें वजह