1947 में भीख मिली थी, असल आजादी 2014 में.. कंगना के इस बयान पर भड़के दिग्गज हस्तियां

Kangna Ranaut

न्यूज डेस्क: सोशल मीडिया पर हमेशा अपने विवादित बयानों को लेकर सुर्खियों में रहने वाले बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत का एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमे वो भारत की आजादी को लेकर काफी अपशब्द कह रही है, जो धीरे-धीरे सोशल मीडिया पर एक बड़ा विवाद खड़ा होता दिख रहा है, दरअसल, कंगना ने एक निजी चैनल से बातचीत के दौरान कहा कि “1947 में मिली आजादी भीख थी, देश को असली आजादी तो साल 2014 में मिली। इस बयान के बाद लगातार अलग-अलग राजनीतिक पार्टी के लोग इस पर कटाक्ष कर रहे है।

लेकिन इसी बीच हम पार्टी के नेता जीतन राम मांझी बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रानौत पर ट्वीट कर कड़ा विरोध जताया है। कंगना रनौत को हाल ही में पद्मश्री सम्मान दिया गया है। मांझी ने राष्ट्रपति से मांग की है कि कंगना से ये सम्मान वापस ले लेना चाहिए। उन्होंने ट्वीट में आगे लिखा है कि “अगर ऐसा नहीं किया गया तो दुनिया समझेगी कि गांधी, नेहरू,भगत सिंह, पटेल, कलाम, मुखर्जी, सावरकर सब के सब ने भीख मांगी तो आजादी मिली।

जीतन राम मांझी आगे अपने ट्विटर पर लिखते हैं, “ऐसी कंगना पर लानत है।” सावरकर, रानी लक्ष्मीबाई, नेता सुभाषचंद्र बोस इन लोगों की बात करूं तो ये लोग जानते थे कि खून बहेगा लेकिन ये भी याद रहे कि हिंदुस्तानी-हिंदुस्तानी का खून न बहाए। उन्होंने आजादी की कीमत चुकाई, यकीनन। पर वो आजादी नहीं थी वो भीख थी। जो आजादी मिली है वो 2014 में मिली है।”

You may have missed

You cannot copy content of this page