शोले मूवी की तरह मोटरसाइकिल को बना दिया एंबुलेंस, इसमें स्ट्रेचर से लेकर ऑक्सीजन तक की सुविधा

Bike Ambulance

डेस्क : पूरा देश इस समय कोरोना संक्रमण से जूझ रहा है। देश में मरीजों कि संख्या घटने का नाम नहीं ले रहा है। हालांकि, कुछ हद तक मरीज रिकवर भी हो रहे है। लेकिन, मृत्यु आंकड़ा तूल पकड़ता दिख रहा है। पूरे देश में इस समय सरकारी अस्पतालों से लेकर प्राइवेट अस्पतालों तक बेड और ऑक्सीजन की भारी किल्लत सामने आ रहे हैं। इसमें सबसे अहम भूमिका आती है एंबुलेंस की। जो वर्तमान समय मे सरकार की लचर व्यवस्था के कारण सुचारू रूप से नहीं चल पा रहा है। इसका नतीजन है, कि लोगो को सही समय पर एंबुलेंस नहीं मिलने के कारण शव को मजबूरन अपने कंधे, ठेले, साइकिल पर ढोने को मजबूर हो रहे है। अगर, यही एंबुलेंस सही समय पर मिल भी जाए तो कई बार ट्रैफिक जाम की वजह से अस्पताल पहुंचने से पहले ही मरीज की मौत हो जाती है। लेकिन, इसी बीच एक सकारात्मक खबर निकल कर सामने आ रही हैं। जिससे देश में कुछ हद तक एंबुलेंस की कमी को दूर करेगा।

32 साल के युवक ने बाइक एंबुलेंस को डिवेलप किया: इस मुसीबत को दूर करने के लिए महाराष्ट्र के पालघर जिले में बाइक एंबुलेंस सेवा की शुरुआत की गई है। यह एंबुलेंस स्ट्रेचर, ऑक्सीजन किट, लाइट, फैन, आइसोलेशन केबिन जैसी सुविधाओं से लैस है। इस अनोखी बाइक एंबुलेंस का डेवलपमेंट महाराष्ट्र से 36 साल के निरंजन आहेर ने किया है। आहेर बताते हमारे लिए यह काम किसी चुनौती से कम नहीं था। हम लोग इसके मॉडल को लेकर प्लान कर रहे थे। उसी दौरान हमारे टीम मेंबर्स को शोले मूवी में इस्तेमाल की गई बाइक याद आई। जिसमें, साइड कार थी। हमने इस पर काम करना शुरू किया। एक बाइक एंबुलेंस को तैयार करने में करीब तीन लाख रुपए खर्च हुए हैं। इस एंबुलेंस को बाइक कंटेनर की तरह डेवलप किया गया है। इसके साथ ही पेशेंट के रिलेटिव के बैठने की भी व्यवस्था की गई है। बाइक की मेन बैट्री अगर फेल हो जाती है तो उसके लिए एडिशनल बैट्री की भी व्यवस्था है।

You cannot copy content of this page