Indian Railways : देशभर में 31 मई को बंद रहेंगी सभी ट्रेने, जानिए क्या है बड़ी वजह?

train

डेस्क : लंबे समय से मांगों को लेकर बार-बार कहने के बावजूद भी मांगों की पूर्ति न होने पर अब भारतीय रेलवे के स्टेशन मास्टर यूनियन ने 31 मई को सामूहिक रूप से मांगों की पूर्ति को लेकर हड़ताल पर जाने का फैसला ले लिया है। रेलवे के स्टेशन मास्टर की मांग है कि नाइट ड्यूटी भत्ता की सीलिंग लिमिट 43,600 से हटाई जाए और कर्मचारियों से रिकवरी का आदेश ने वापस लिया जाए। साथ ही साथ यह मांग भी की जा रही कि रेलवे स्टेशन मास्टर्स के खाली पदों को भरा जाए और सभी को सुरक्षा और तनाव भत्ता भी दिया जाए।

रेलवे यूनियन को हड़ताल न करने को लेकर सूचना : हालांकि रेलवे कर्मचारियों के लिए हड़ताल पर जाना इतना आसान नहीं होगा क्योंकि रेलवे यूनियन को देश के कई जोनल रेलवेज जैसे उत्तर मध्य रेलवे, दक्षिण पूर्व रेलवे एवं अन्य की ओर से इस हड़ताल को लेकर एक पत्र भेजा जा चुका है ।जिसमें रेलवे कर्मचारियों को क्रमिक और प्रशिक्षण विभाग के नियमों का हवाला देते हुए कहा गया है कि यूनियन बनाने का अधिकार कर्मचारियों को है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि वह कभी भी हड़ताल पर जा सकते हैं।

विशेष परिस्थितियों में हड़ताल कि तिथि बधाई भी जा सकती है : इससे पूर्व रेलवे स्टेशन मास्टर एसोसिएशन हड़ताल का ऐलान इस आधार पर किया था कि वर्षों से रेलवे के खिलाफ अपनी मांगों को लेकर वह आंदोलन कर रहे हैं। लेकिन अब तक रेलवे ने कभी भी इस पर कोई ध्यान नहीं दिया है। इस वजह से इस पर 31 मई को वह हड़ताल पर जाएंगे। इसके साथ ही साथ स्टेशन मास्टर एसोसिएशन के ऑफिसर्स ने यह भी कहा है कि संभवत विशेष परिस्थितियों में हड़ताल की तारीख बदली भी जा सकती है।

वर्टिकल हेड्स को ट्रेन संचालन के लिए दिया जा चुका है डायरेक्शन : रेलवे स्टेशन मास्टर एसोसिएशन की हड़ताल के ऐलान के बाद रेलवे भी अब काफी अलर्ट हो गई है। सभी जोन के वर्टिकल हेड्स को डायरेक्शन दे दिया गया है कि वह पूर्ण प्रयास करें कि 31 मई को स्टेशन मास्टर की हड़ताल की वजह से किसी भी ट्रेन का संचालन बाधित ना हो। वही रेलवे स्टेशन मास्टर एसोसिएशन ने कहा कि वे अपनी समस्याओं और परेशानियों का ज्ञापन कई बार बड़े अधिकारियों को सौंप चुके हैं, लेकिन अभी तक एक बार भी कोई सुनवाई नहीं हुई है। इस वजह से 31 मई को संभावना है कि प्रदेश भर से 35 हज़ार से भी ज्यादा रेलवे स्टेशन मास्टर हड़ताल करते हुए छुट्टी पर रहेंगे।

ये भी पढ़ें   India Border : चीन के दुस्साहस के बाद नेपाल की ओछी हरकत - भारत के 5 हेक्टेयर जमीन पर किया कब्जा..