आखिर Nitin Gadkari ने क्यों कहा- मन करता है राजनीति छोड़ दूं?, जानिए पूरा मामला

Nitin Gadkari News

डेस्क : हमें समझना होगा कि राजनीति क्या है, क्या समाज, देश के कल्याण के लिए है या सरकार में बने रहने के लिए है।” ये कहना केंद्रीय राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी का है। उन्होंने बीते शनिवार को नागपुर में यह बात कही। वे कहते हैं “राजनीति छोड़ने का मन करता है उसके अलावा भी समाज के लिए बहुत कुछ करने की आवश्यकता है।” उक्त कार्यक्रम में मंत्री ने कहा वर्तमान समय में राजनीति, सामाजिक बदलाव और विकास का वाहन बनने के सत्ता में बने रहने के संबंध में अधिक हो गई है।

मंत्री ने कहा राजनीति महात्मा गांधी के समय से ही सामाजिक आंदोलन का एक अहम भाग रहा है, लेकिन इसके बाद इसे राष्ट्र और विकास के लक्षण पर ध्यान दिया गया। वे आगे कहते हैं आज हम इस राजनीति में जो कुछ देख पा रहे हैं। वह सत्ता में आने के बाद में राजनीति सामाजिक और आर्थिक सुधार का एक माध्यम है। इसलिए अभी के राजनेताओं को समाज, शिक्षा और कला आदि के विकास के लिए मेहनत करना चाहिए। बता दें कि नितिन गडकरी ने यह सब बात सामाजिक कार्यकर्ता कृष्ण गांधी को सम्मानित करने के संबंध में आयोजित की गई एक कार्यक्रम में कह रहे थे।

गडकरी ने अपने भाषण के दौरान कहा कि जगदीश भाऊ राजनीति में थे, तब उन्हें में हतोत्साहित किया करता था। इसका कारण यह है कि मैं भी कभी-कभी राजनीति छोड़ने के विषय में सोचता रहता हूं। राजनीति के शिवाय भी जीवन में बहुत कुछ है, जो किया जा सकता है। मंत्री ने दिवंगत नेता जर्ज फर्नांडीस की सादगी भरी जीवनशैली को याद करते हुए प्रशंसा की। उन्होंने कहा मैं जॉर्ज फर्नांडिस जी से काफी कुछ सीखा हूं। उन्हें कभी सत्ता की भूख नहीं रही।

ये भी पढ़ें   राजधानी दिल्ली में यमुना के जल स्तर बढ़ने के कारण 29 रुट हुए बंद - अब यहाँ से जाएं घूमकर